सिवान में गंदगी व शराब की बोतल देख भड़के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमां खां

0

जल्द जिले में होंगे एक विद्यालय और एक आवासीय छात्रवास

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

परवेज अख्तर/सीवान: भभुआ के चैनपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक और राज्‍य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मो. जमां खां मंत्री बनने के बाद पहली बार रविवार को सीवान पहुँचे.इस दौरान जिले के लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया. वही शहर के एक निजी विद्यालय में कार्यक्रम के बाद वे परिषदन पहुँचे जहाँ उन्होंने एक प्रेसवार्ता का आयोजन किया.पत्रकारों को संबोधित करते हुए अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद जमां खां ने कहा कि आपके सहयोग से मैं यहां तक आया हूं. और पार्टी के लिए और पार्टी की मजबूती के लिए मैं कार्यकर्ताओं को जोड़ने का काम कर रहा हूं वही मुझे जो मंत्रालय मिला है मैं उस पर काम करूंगा उन्होंने यह भी बताया कि मैंने सिवान पहुंचकर सबसे पहले अल्पसंख्यक छात्रावास का निरीक्षण किया जहां पर परिषर, वातरूम, रसोई , सड़क सहित सभी कमरों का गहनता से जायजा लिया जहां मुझे कई प्रकार की त्रुटियां मिली और गंदगी शराब की बोतल देख जल्द से जल्द साफ सफाई और टूटे खिड़की दरवाजे को जल्द से जल्द मरम्मत करने का निर्देश दिया हूं और मैं पुनः अगर सिवान आऊंगा तो सबसे पहले छात्रावास का निरीक्षण करूंगा क्योंकि मुझे देखना है कि जो निर्देश मैंने दिया था क्या वह छात्रावास में हो पाया है.

उन्होंने यह भी कहा कि सीवान के लिए मुझे एक विद्यालय और एक आवासीय छात्रावास के लिए 4 से 5 एकड़ जमीन की आवश्यकता है यदि जमीन जल्द से जकड़ मिल गई तो विद्यालय और छात्रावास दोनों का निर्माण होगा. वही ऋण की मामले में उन्होंने कहा कि अब तक पांच लाख ऋण दिया जा रहा है लेकिन मैं प्रयास करूंगा कि अब दस लाख कर दिया जाय. उन्होंने यह भी कहा कि अल्पसंख्यक के विकास के लिए सभी बाधाओं को दूर करने का प्रयास किया जाएगा.ताकि सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का लाभ आम आदमी तक पहुंचे और का सर्वांगीण विकास हो. अंत में उन्होंने यह भी कहा कि अगले चुनाव में भी 80% मुस्लिम जदयू के साथ होंगे और जदयू फिर सरकार बनाएगी .इस मौके पर सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन ईसादुल्लाह, लालबाबू प्रसाद, कुणाल आनंद, हामिद खान ,इकराम खान, अब्दुल करीम रिजवी सहित सैकड़ो कार्यकर्ता मौजूद थे.