मैरवा में नगर पंचायत अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास

0
avishvash
  • आठ माह चुनाव में शेष, बावजूद अविश्वास को लेकर आवदेन
  • कार्यालय में आवदेन देकर पांच सदस्यों ने बैठक बुलाने को कहा

परवेज अख्तर/सिवान: नगर पंचायत अध्यक्ष सुभावती देवी व उपाध्यक्ष रीमा सिंह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए सोमवार को ईओ कार्यालय में आवदेन दिया है। नगर पंचायत के चुनाव में लगभग आठ माह शेष रहने के बावजूद पांच सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए आवदेन पर हस्ताक्षर किया है। बता दे कि तेरह सदस्यों में पांच वार्ड सदस्य मिल जाए तो अविश्वास प्रस्ताव ला सकते हैं। आवेदन में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष को नगर विकास विभाग के निर्देश पर डस्टबिन खरीद के मामले में जांच के दौरान दोषी पाये जाने की बात कही गयी है। कोरोना महामारी के दौरान सोडियम हाइपो क्लोराइड केमिकल, ट्रेलर स्प्रेयर मशीन, फागिंग मशीन और प्लास्टिक की बाल्टी खरीद में लूट-खसोट का आरोप लगाया है। लंबित वाद में नगर पंचायत की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया गया है। अध्यक्ष द्वारा जनहित की अनदेखी कर बोर्ड की बैठक को चार पांच माह पर बुलाया जा रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

बैठक में जनहित की योजना का चयन नहीं करने और ऐसे कार्य को अवरूद्व किये जाने की चर्चा आवदेन में किया गया है। बिहार वित्त नियमावली के खिलाफ बिना टेंडर किए कोटेशन के आधार पर सात लाख से ऊपर के साईन बोर्ड को लगाया गया है। अध्यक्ष द्वारा निजी स्वार्थ के लिए अपने बेटे के नाम पर ईओ के लिए वाहन किराये पर देने और उपाध्यक्ष रीमा सिंह पर डोर टू डोर कूड़ा के उठाव के लिए कृषि कार्य का ट्रैक्टर एजेंसी को देने का आरोप भी लगाया गया है। अध्यक्ष सुभावती देवी के पुत्र और उपाध्यक्ष के पति पर नगर पंचायत के अभिलेख का अवलोकन किये जाने की चर्चा भी आवदेन में की गई है।

लगभग दस आरोप के साथ बिहार नगर पालिका अधिनियम के तहत निर्धारित समय के अंदर अविश्वास प्रस्ताव को लेकर बैठक बुलाने की मांग की गई है। वार्ड पार्षद मदन बैठा, शबाना खातून, मीरा देवी, उछाही भगत और वार्ड छह की पार्षद जीनत खातून ने हस्ताक्षरयुक्त आवदेन दिया है। इसकी प्रतिलिपि डीएम और नगर विकास विभाग के मुख्य सचिव को भी भेजा जा रहा है। इस संबंध में ईओ जमाल अख्तर ने कहा कि वह सीवान डीएम के यहां बैठक में हिस्सा लेने आए हैं। अविश्वास प्रस्ताव के आवेदन के संबंध में जानकारी नहीं है। आवेदन को कार्यालय में दिया गया होगा। कार्यालय पहुंचने पर ही इस संबंध में जानकारी दे सकते है।