जिला पार्षद पति हत्याकांड में नया मोड़, JDU ने तेजस्वी के साथ कथित अपराधी का फोटो किया वायरल

0

पूर्णिया: जिला पार्षद के पति की गोली मारकर हत्‍या करने के मामले में सियासत गर्म होती जा रही है। रविवार को राजद नेता तेजस्वी यादव ने मंत्री लेशी सिंह के भतीजे पर आरोप लगाया था। इसको लेकर सरकार पर सवाल भी खड़ा किया था। अब जदयू ने विपक्ष पर पलटवार किया है। पार्टी प्रवक्ता नीरज कुमार ने सोमवार को पटना में प्रेस कांन्फ्रेंस में बिट्टू सिंह के साथ नेता प्रतिपक्ष का फोटो जारी किया है। साथ ही एक आडियो भी मीडिया के सामने सुनाया। उन्होंने कहा अपराधी बिट्टू को खुद तेजस्वी ने आरजेडी में शामिल कराया था। नीरज ने कहा कि दोषी कोई भी हो नीतीश सरकार में जेल तो जाना ही होगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

नीरज ने कहा कि तेजस्वी ने पालिटिकल इन्वेस्टिगेशन आफिसर का नया दायित्व ले लिया है, लेकिन नौवीं पास को यह पद कैसे मिल जाएगा? इसके लिए तो स्नातक होना जरूरी है। नीरज ने कहा कि तेजस्वी को भ्रष्टाचार का काफी अनुभवु है। अगर उनके पास सरकार के खिलाफ कोई सबूत है तो पुलिस को सौंपें। नीरज ने कहा कि तेजस्वी कहते हैं कि सरकार दबाव में है। नीतीश कुमार के ऊपर कोई दबाव नहीं बना सकता है। तेजस्वी पर राजनीतिक वज्रपात हुआ है। पढ़ाई से लेकर क्रिकेट खेलने तक तेजस्वी पर हमेशा दवाब ही रहा। नीरज ने कहा कि बीमार पिता को बिहार लाकर भी तेजस्वी उपचुनाव में अपने दल को कामयाबी नहीं दिला पाए।

पूर्णिया जिला पार्षद के पति रिंटू सिंह की हत्या के मामले में तेजस्वी ने कहा था कि मंत्री के भतीजे ने हत्या करवा दी पर सकार कान में तेल डालकर बैठी रही। एसएचओ को निलंबित किया गया है, किंतु जब मृतक के स्वजन सीधे तौर पर लेशी सिंह और उनके भतीजे पर आरोप लगा रहे हैं तो सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए। तेजस्वी ने प्रेस कान्फ्रेंस कर लेशी सिंह, एसएचओ और पुलिस की सीडीआर सार्वजनिक करने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि रिंटू सिंह पुलिस से लिखित शिकायत कर चुके थे कि लेशी सिंह और उनके भतीजे से उन्हें जान का खतरा है। फिर भी न तो प्राथमिकी दर्ज की गई और न सुरक्षा दी गई। आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री का अपने विधायकों और मंत्रियों पर ही नियंत्रण नहीं है तो अपराधियों और शराब माफिया पर कहां से नियंत्रण होगा?