सड़कों पर सरेआम हो रहा ओवरलोड वाहनों का परिचालन, परिवहन नियमों की उड़ रही धज्जियां

0
overload truck

परवेज़ अख्तर/सिवान:- जिले भर में सड़कों पर भार वाले बड़े ओवरलोड वाहनों का परिचालन सरेआम है l तमाम सख्त यातायात नियमों की धज्जियां जिस प्रकार खुलेआम बड़े वाहन चालकों द्वारा उड़ाई जा रही है उसको ध्यान में रखते हुए बात करें तो ऐसा लगता है जैसे सभी यातायात नियमों के पालन की संपूर्ण जिम्मेदारी दोपहिया और चार पहिया वाहन चालकों ने उठा रखी हो l बताते चलें कि जिस प्रकार ट्रक ट्रेलर सहित अन्य भार वाहन चालकों द्वारा वाहनों को ओवरलोड कर तूफानी रफ्तार में शहरी एवं ग्रामीण सड़कों पर दौड़ाया जा रहा है और इन पर कोई रोक-टोक नहीं है इससे साबित होता है कि कहीं ना कहीं इन्हें उन अधिकारियों का सहयोग प्राप्त है जिनके जिम्मे यातायात नियमों के पालन अर्थात सख्त प्रावधानों के सफल क्रियान्वयन की खास जिम्मेदारी हैl सरकार के सख्त निर्देशों का उल्लंघन खुलेआम हो रहा है और संबंधित विभाग जिम्मेदार अधिकारी तमाशबीन बने हुए हैंl सड़कों पर ओवरलोड बड़े वाहनों की तूफानी चाल नियमों और प्रावधानों की धज्जियां तो उड़ा ही रही है साथ साथ इन वाहनों का परिचालन लोगों के जान का दुश्मन भी बनता दिखाई पड़ रहा है अक्सर ऐसे मामले प्रकाश में आते हैं जहां इन वाहनों की रफ्तार राहगीरों और बेकसूर छोटे वाहन चालको की जिंदगी पर भारी पड़ जाता हैl और बेवजह निर्दोष की जान चली जाती है l इसके बाद अधिकारियों को कानून की याद आती है और विभागीय अधिकारी घटनास्थल पहुंचते हैं तथा सड़क किनारे खड़े भार वाले ओवरलोड वाहनों कि सुरक्षा संबंधित पहल करते हुए इनकी लापरवाही का शिकार हुए मृत व्यक्ति के मौत का मुआवजा मतलब अनमोल जीवन की कीमत लगाते हैं और दुर्घटनाग्रस्त वाहन को जप्त कर थाने ले आते हैं फिर कुछ दिनों के बाद वह गाड़ी रिलीज हो जाती है और दोबारा किसी दूसरे की जान का दुश्मन बन यातायात प्रावधानों की धज्जियां उड़ाते हुए सड़कों पर दौड़ने लगती है l नियमों को सख्ती से पालन कराने के लिए मेहनत ना की जाए l दफ्तरों में बैठकर कुर्सी तोड़ी जाए l मामला गंभीर है परिवहन विभाग की चुप्पी बेहद चिंतनीय है l यदि हालात पर अधिकारियों के खयालात समय रहते नहीं बदले तो अंजाम बुरा साबित हो सकता है और जवाबदेही भारी पड़ सकती हैl