आर्केस्ट्रा में फरमाइशी गीत को ले भिड़े शराती-बराती, आधा दर्जन घायल

0

परवेज़ अख्तर/सिवान :- जिले के सराय ओपी क्षेत्र के पपौर टोला में शुक्रवार की रात आई बरात में उस समय अफरा-तफरी मच गई जब बरात में चल रहे आर्केस्ट्रा में फरमाइशी गीत बजाने को लेकर सराती एवं बराती में जमकर मारपीट हो गई। जिसमें दूल्हा के बड़े भाई, जीजा समेत आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। इसके बाद विवाद इतना बढ़ गया कि बराती पिटाई के डर से भाग खड़े हुए। घायलों में डोमन तिवारी, शर्मा तिवारी, दूल्हा के जीजा सुमोध मिश्र, रंजन तिवारी उर्फ ओम तिवारी समेत आधा दर्जन लोग शामिल हैं। मारपीट के दौरान बरातियों से लूटपाट की घटना को अंजाम दिया गया है। बरातियों के गले से सोने की चेन तथा 20 हजार रुपये भी लूट लिए तथा शामियाना में मौजूद करीब दो दर्जन से अधिक कुर्सियां तोड़ दिया गया। सरातियों के रुख देख बराती वहां से किसी तरह जान बचाकर भाग निकले। मामले में बताया जाता है कि गोरेयाकोठी थाना क्षेत्र के सैदपुरा मिलन मोड़ निवासी गणेश तिवारी के पुत्र कामेश्वर तिवारी की बरात शुक्रवार की शाम सराय ओपी क्षेत्र के पपौर टोला निवासी चंद्रमा पांडेय के घर आई थी। बरात दरवाजे पर लगी, द्वार पूजा भी हुआ। सभी बराती भोजन करने के बाद जनवासा में चल रहे आर्केस्ट्रा कार्यक्रम देखने में लीन हो गए। इस दौरान रिकॉर्डिंग डांस का लुफ्त उठा रहे थे। आधी रात होने पर गांव ही कुछ युवक आर्केस्ट्रा कार्यक्रम देखने के लिए आ धमके और बज रहे गीत को बंद करा दिया तथा भोजपुरी फरमाइशी गाना बजाने को ले दबाव बनाने लगे। जब इसका विरोध बरातियों ने किया तो बराती एवं सराती पक्षों में नोकझोक होने लगी और बात मारपीट तक बढ़ गई। देखते ही देखते सराती पक्ष काफी संख्या में एकत्रित हो गए तथा बरातियों की पिटाई शुरू कर दी जिससे अफरा-तफरी मच गई। सरातियों का रुख देख बराती रातोंरात वहां से भाग खड़े हुए। घायल रंजन तिवारी उर्फ ओम तिवारी ने बताया कि सभी सराती लाठी-डंडे से लैस थे। सरातियों ने घायल चारों लोग के साथ लूटपाट भी की। लूटपाट के दौरान तीन सोने का चेन और लगभग 20 हजार रुपये भी लूट लिए। घायल रंजन तिवारी उर्फ ओम तिवारी ने बताया कि हमला करने वालों में सराती पक्ष के मुख्य रूप से पपौर टोला निवासी अचल पांडेय, जीतू पांडेय, अनिल पांडेय, चंद्रमा पांडेय, गोपाल पांडेय समेत दो दर्जन से अधिक अज्ञात शामिल थे। उन्होंने बताया कि वे सभी हमलावर अश्लील गीत बजाने को लेकर दबाव बना रहे थे इसका हमलोगों ने विरोध किया तो हमलोगों के साथ मारपीट करने लगे। गांव वालों की संख्या ज्यादा थी और उन्होंने सभी के साथ मारपीट शुरू कर दी। इस कारण किसी तरह से हम सभी जान बचा कर वहां से भाग निकले।

दूल्हे के जीजा और बड़े भाई को भी नहीं छोड़ा

बता दें कि फरमाइशी गीत को लेकर बराती और सरातियों के बीच हुई मारपीट में गांव वालों ने दूल्हे के जीजा और उसके चचेरे भाई तक को नहीं छोड़ा। सरातियों ने दूल्हे के जीजा सुमोध मिश्र, और उसके भाई शर्मा तिवारी की पिटाई कर दी। दोनों के साथ लूटपाट की गई है। इसको लेकर वर और वधु पक्ष में तनाव है।

क्या कहते हैं अधिकारी

ऐसी घटना मेरे संज्ञान में नहीं है। अगर घायल बरातियों के द्वारा लिखित आवेदन दी जाती है तो प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
राकेश कुमार शर्मा
प्रभारी सराय ओपी,