दीनदयालपुर में शराब के नशे में धुत बताकर लोगों ने चौकीदार को पीटा

0
दीनदयालपुर में चौकीदार को पीटा

सूचना पर पहुंची पुलिस टीम के साथ सरकारी कार्य में बांधा डालने की कई असामाजिक तत्वों ने की कोशिश

परवेज अख्तर/सिवान:- जिले के जी. बी. नगर थाने के दीनदयालपुर गांव में मंगलवार की देर रात शराब के नशे में धुत बताकर एक चौकीदार को लोगों ने जमकर पिटाई कर दी।चौकीदार की पिटाई के बाद गांव में अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। बाद में इसकी सूचना जैसे ही स्थानीय थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह को मिली तो वे तुरंत दल बल के साथ घटनास्थल पहुंचे। घटनास्थल पर पहुंचते ही घायल चौकीदार के दरवाजे पर इकट्ठा भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने कई तरकीब अपनाएं। बाद में थानाध्यक्ष ने लोगों को समझा-बुझाकर चौकीदार के दरवाजे पर इकट्ठा भीड़ को हटाया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

चौकीदार के दरवाजे पर इकट्ठा भीड़ ने चौकीदार पर हमेशा शराब के नशे में धुत होने की शिकायत थानाध्यक्ष श्री सिंह से की। लोगों की शिकायत पर थानाध्यक्ष ने घायल चौकीदार को पुलिस अभिरक्षा में मेडिकल जांच तथा इलाज हेतु सिवान सदर अस्पताल भेजा।लोगों का कहना था कि सरकार के लॉक डाउन के बावजूद चौकीदार शराब पीकर पूर्ण शराबबंदी नीति कानून की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहा है। इस दौरान कुछ असामाजिक तत्वों ने जीवी नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह के बारे में तरह-तरह की अफवाहें फैलाकर बदनाम करने की कोशिश की। हालांकि श्री सिंह ने बड़ी ही धैर्य पूर्वक काम करते हुए लोगों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया।

यहां बताते चलें कि गांव के कुछ असामाजिक तत्वों ने थानाध्यक्ष के विरुद्ध तरह-तरह की अफवाहें फैलाकर सरकारी कार्य में बांधा तथा विधि व्यवस्था संधारण में व्यवधान डालने की कोशिश भी की।लेकिन थानाध्यक्ष श्री सिंह ने इस दौरान स्नेहता में वीरता का परिचय देते हुए धैर्य से काम लिया।इस संबंध में चौकीदार कमल यादव ने थाने में आवेदन देकर बलिंद्र यादव समेत चार लोगों को आरोपित किया है।चौकीदार द्वारा दिए गए आवेदन में मारपीट करने का जिक्र का भी उल्लेख किया गया है।जबकि इस मामले में पुलिस कुछ भी बताने से साफ साफ इंकार कर रही है।

इस बाबत थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि चौकीदार के साथ मारपीट की घटना की सूचना पर पुलिस टीम के साथ मैं स्वयं दीनदयालपुर गाँव पहुंचा हुआ था। लोगों की शिकायत के बाद चौकीदार को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल भेजा गया। वहीं उन्होंने कहा कि मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद चौकीदार पर कार्रवाई की के लिए अनुशंसा की जाएगी। इसके आगे श्री सिंह ने कुछ भी बताने से साफ- साफ इंकार किया है।