आरोपियों की गिरफ्तारी में पुलिस विफल

0

परवेज अख्तर,सिवान:- ​प्रखंड के राजकीय मध्य विद्यालय कचनार में हुए तीन लाख रूपय घोटाले के मामले में एफआईआर के तीन माह बाद पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी करने में विफल साबित हो रही है। स्थानीय मुखिया बलिराम सिंह ने कहा कि थाना में जनवरी माह में इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई। एफआईआर में रघुनाथपुर थाना क्षेत्र के महरौली गांव के माधव राय, कचनार के प्रमोद गोस्वामी, कृष्णा ठाकुर, व वर्तमान समय में सिसवन संकुल के समन्वयक ललन शर्मा को आरोपित किया गया है। एफआईआर कोर्ट परिवाद पर की गई है। कोर्ट परिवाद महेश्वर सिंह ने दायर की थी। जिसमें कहा है कि 2012 में विद्यालय के तत्कालीन प्रधानाध्यापक मधुसूदन शर्मा और अशोक कुमार सिंह ने विद्यालय भवन की ईट, लकड़ी, दरवाजा,जिसकी किमत लगभग तीन लाख रुपये होगी, संपत्ति बेच दी गई। इसकी जानकारी पदाधिकारियों को दी गई। सूचना के अधिकार के तहत इसकी जानकारी ली गई, लेकिन सूचना भ्रामक दी गई। जिस पर एफआईआर दर्ज की गई। लेकिन पुलिस इन आरोपितो की गिरफ्तारी नहीं कर रही है। थाना अध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि एफआईआर के बाद से पुलिस अभियुक्तों के गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। सरकारी कर्मी की गिरफ्तारी में थोड़ा मुश्किल होती है।​