रक्षाबंधन की तैयारी शुरु : बाजारों में मुख्य आकर्षण का केंद्र बना राखी का दुकान

0

डाकघरों में पहुंचने लगी राखियां ताकि भाई की कलाई पर बंध सके

प्रिंस पुरुषार्थी/सिवान :- कोरोना महामारी जैसे उपजे हालात के बीच रक्षाबंधन 3 अगस्त को हैं। जिसकी तैयारी बाजारों से लेकर घरों तक देखी जा रही है। इस त्योहार में बहनों की राखियां भाइयों की कलाई पर त्योहार के दिन सजे। इसके लिए बहनों की राखियां अभी से ही डाकघरों के माध्यम से भेजनी शुरु हो गई हैं। बताते चलें कि इस त्योहार में डाक विभाग महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता हैं। दूरदराज के क्षेत्रों में रह रहीं बहनो के लिए राखी भेजने का डाक एक सुरक्षित माध्यम हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

सीवान से प्रिंस पुरुषार्थी की रिपोर्ट में बताया गया कि राखी के त्योहार की रौनक अभी से ही बाजार में दिखने लगी है। बाजारों में आकर्षित करने राखियों की दुकान सजने लगी हैं। वहीं, कोरोना संक्रमण के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखते हुए राखियों की बिक्री चरम पर हैं। महामारी में भी बहनों का रक्षाबंधन के प्रति गजब का उत्साह देखने बन रहा हैं।

बाजारों में बच्चों के लिए कई तरह की राखियां आई हैं, इनमें स्पिनर राखी मुख्य आकर्षण है।स्टोन वर्क, जरी, गोटा, चंदन की राखियां भी बाजार में उपलब्ध हैं। इनमें स्वास्तिक, ओम बनी चंदन की राखियां सिंपल व खूबसूरत होती हैं। स्टोन वर्क की ब्रेसलेट पैटर्न राखियां भी खूब लुभा रही हैं।