गम्भीरपुर गांव में युवती की गला रेत कर निर्मम हत्या

0
gala ret kar htya

सामूहिक दुष्कर्म की आशंका, जांच में जुटी पुलिस

पोस्मार्टम रिपोर्ट के बाद होगा खुलासा

प्रवेज़ अख्तर/सिवान:- जिले के नौतन थाना के गम्भीरपुर गांव के प्रभुनाथ पाठक के खेत से पुलिस ने एक 18 वर्षीय युवती का गला रेता खून से लथपथ शव बरामद किया है।मृतिका की पहचान गम्भीरपुर गांव के स्वर्गीय बाबू लाल पटेल की 18 वर्षीय पुत्री रिंकी कुमारी के रूप में की गई है। ग्रामीणों की सूचना पर थाने में पदस्थापित एएसआई बिनोद सिंह ने दल -बल के साथ घटना स्थल पर पहुँच कर खून से लथपथ युवती का शव बरामद किया है।शव मिलने से इलाके में सनसनी फैली हुई है।तथा तरह-तरह के अटकलों का बाजार गर्म है।लोग जितनी मुंह उतनी बातें कर रहे है।गांव व आस-पास के इलाके में येसी चर्चा उम्र को देखते हुए खूब हो रही है कि अपराधियों ने घटना को अंजाम देने के पूर्व उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म भी की होगी।उधर स्थल को देखने से भी ऐसा प्रतीत हो रहा था कि हत्या के पूर्व उक्त युवती के साथ जोर-आजमाइस का भी खूब प्रयास किया गया है।या तो मनचले अपने मंसूबे पर कामयाब हो गए होंगे या सफल नही होने पर उसकी हत्या कर डाली होगी।सामूहिक दुष्कर्म की पुष्टि पोस्मार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ भी कहना सम्भव है।हालांकि उम्र की नजाकत को देखते हुए पुलिस इस बिंदु पर भी जांच कर रही है।एएसआई बिनोद सिंह ने बताया कि परिजनों द्वारा अभी तक कोई लिखित शिकायत थाना पुलिस को सिपुर्द नही की है।लेकिन पुलिस इस घटना को चुनौती के रूप में लेते हुए अनुसंधान प्रारंभ कर दी है।जल्द से जल्द पुलिस घटना का खुलासा कर लेगी।पुलिस प्रथम दृष्टया में इस घटना को प्रेम -प्रसंग से जोड़ कर देख रही है।हालांकि पुलिस मृतिका का मोबाइल नंबर भी इकठ्ठा कर उसका कॉल डिटेल्स निकालने के फिराक में है। ताकि अनुसंधान में सहूलियत मिल सके।पुलिस परिजनों के मौखिक बयान के आधार पर जांच शुरू कर दी है।पुलिस का कहना है कि रिंकी कुमारी निर्मम हत्या कांड का बारीकी पूर्वक अनुसंधान शुरू कर दी गई है।दोषी बख्से नही जायेंगे।परिजनों को हर सम्भव न्याय मिलेगा।

रिंकी हत्या कांड में जरूर लगे होंगे दो से अधिक अपराधी

रिंकी हत्या कांड में दो से अधिक अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया होगा।क्योंकि जिस जगह उसकी निर्मम हत्या अपराधियों द्वारा की गई है। वहां आस-पास का जगह ये दर्शा रहा है कि रिंकी अपनी जान गवांने से पहले अपराधियों से खूब लड़ी -भिड़ी होगी।जब वह लड़ाई के मैदान में हार मान ली होगी तो अपराधियों ने सहज तरीके से उसकी गला रेतकर हत्या कर दिए होंगे।

आखिर कैसे सुनसान जगह पहुँची रिंकी

रिंकी निर्मम हत्या कांड रविवार की मध्य रात्रि की प्रतीत हो रही है।सवाल यह खड़ा हो रहा है कि उतनी रात में उस सुनसान जगह रिंकी वहाँ कैसे पहुँची?वहाँ तक पहुचाँने वाले अपराधी थे या कोई और?एक यह सवाल भी अपने आप मे जन्म दे रहा है कि वहाँ तक पहुंचाने में अगर एक या दो लोग होंगे तो घटना में शामिल और अन्य कितने लोग थे।क्योंकि एक या दो ब्यक्ति की बस की बात नही थी कि इतनी बड़ी घटना को अंजाम दे सके।इसका खुलासा पुलिस के लिए टेढ़ी खीर साबित हो सकती है।

शव पहुँचते ही गांव में मचा कोहराम

जैसे ही रिंकी का शव पोस्मार्टम के बाद उसके गांव पहुचाँ तो परिजनों के हृदय विदारक चित्तकर से पूरा गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया।एक-एक कर मृतिका के दरवाजे पर लोगों का आना-जाना शुरू हो गया।दरवाजे पर उमड़ी भीड़ में सबसे अधिक महिलाओं की संख्या ज्यादा थी।