सिवान: पूर्ण वैक्सीनेशन का था लक्ष्य लेकिन अब तक 54 फीसदी ही संभव

0
  • हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा में शामिल होने वाले लाभार्थियों का पूर्ण वैक्सीनेशन करना महत्वपूर्ण मकसद था
  • जिले में लाभार्थियों की संख्या 03 लाख 17 हजार 601 है
  • टीम गांवों में पहुंच तो रही लेकिन लाभार्थी नहीं मिल रहे हैं
  • 01 लाख 71 हजार 011 को दिया गया है वैक्सीन का डोज

परवेज अख्तर/सिवान: जिले में वैश्विक महामारी कोविड-19 से निपटने को लेकर 15 से लेकर 18 वर्ष आयुवर्ग के लाभार्थियों का वैक्सीनेशन जोरो पर है। बावजूद तय समय पर लक्ष्य पूरा होता दिखायी नहीं दे रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी गयी जानकारी के अनुसार अबतक इस उम्रवर्ग के कुल 54 फीसदी लाभार्थियों का ही वैक्सीनेशेन किया जा सका है। जबकि 31 जनवरी तक वैक्सीनेशन पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया था। 31 जनवरी तक लक्ष्य पूरा करने के पीछे हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा में शामिल होने वाले लाभार्थियों का पूर्ण वैक्सीनेशन करना महत्वपूर्ण मकसद था। जो पूरा होता नहीं दिखायी दे रहा है। इस तरह शेष दिनों में विभाग अधिक से अधिक लाभार्थियों तक पहुंचकर उन्हें वैक्सीन देने की कोशिश कर रहा है। वहीं दूसरी वैक्सीनेशन टीम के कई सदस्य बताते हैं कि लाभार्थियों की संख्या शायद कुछ ज्यादा हो गया है। कारण है कि टीम गांवों में पहुंच तो रही है लेकिन उन्हें लाभार्थी नहीं मिल रहे हैं।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

अबतक एक लाख 71 हजार 011 लाभार्थियों को दिया वैक्सीन का डोज

विभाग की ओर से दी गयी जानकारी के अनुसार 15 वर्ष से लेकर 18 वर्ष आयुवर्ग के कुल 01 लाख 71 हजार 011 लाभार्थियों को वैक्सीन का डोज दिया जा चुका है। सबसे अधिक वैक्सीनेशन वाला प्रखंड नौतन है। यहां कुल 114.5 फीसदी लाभार्थियों ने वैक्सीन का डोज लिया है। वहीं बड़हरिया में 71.4 जबकि जीरादेई में 66.5 फीसदी लाभार्थियों को वैक्सीन का डोज दिया जा चुका है। जबकि जिले में इस आयुवर्ग के लाभार्थियों की कुल संख्या करीब 03 लाख 17 हजार 601 बतायी गयी है।