सिवान: 12 दिन बाद भी लापता युवकों को नहीं ढूंढ सकी पुलिस

0
  • परिजनों ने वरीय पदाधिकारियों को सुनायी आपबीती
  • तीसरी बार मुलाकात नहीं होने से नाराज दिखे परिजन

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
जिले के तीन युवक विशाल सिंह, परमेंद्र यादव व अंशु के एक साथ लापता हो जाने की घटना के बारह दिन बीत गए हैं। बावजूद पुलिस किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है। लापता युवकों के परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस इस मामले में एक्टिव है और मामले का पर्दाफाश के लिए फूंक-फूंक कर कदम बढ़ा रही है। एसपी स्वयं अपने को जांच टीम का हिस्सा बता रहे हैं और जल्द ही मामले का उद्भेदन करने का आश्वासन दे रहे हैं। बताया जाता है कि इस मामले में पुलिस की एक टीम बहड़रिया के उस स्थल का भी मुआयना कर चुकी है, जहां से तीनों युवकों के लापता होने की बतायी जा रही है। इधर धरातल पर पुलिसिया कार्रवाई नहीं दिखायी देने से परिजनों की चिंता बढ़ने लगी थी। तीसरी बार गुरुवार को तीनों लापता युवकों के परिजन एसपी से मिलने समाहरणालय स्थित उनके कार्यालय पहुंचे थे, लेकिन इस बार भी मिलने की उम्मीद न होने से सभी नाराज दिखे। हालांकि बाद में सभी ने वरीय पदाधिकारियों से बात की। बता दे कि 07 नवंबर को एक साथ निकले तीन मित्र विशाल सिंह, परमेंद्र यादव व अंशु देर शाम तक अपने घर नहीं पहुंच सके। अगले दिन लापता विशाल सिंह की काली स्कार्पियो गाड़ी गोपालगंज जिले के मीरगंज थाना क्षेत्र के सब्या के निकट लावारिस हालत में बरामद की गई थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 7.27.12 PM
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

डीजीपी के मोबाइल फोन पर कॉल किया

लापता तीनों युवकों के परिजनों में एक ने बताया कि वरीय पदाधिकारियों के व्यस्त होने से सभी उनसे मिल नहीं पा रहे थे। अपनी व्यथा सुनाने के लिए उन्होंने पहले तो डीआईजी और बाद में डीजीपी के मोबाइल फोन पर कॉल किया। कुछ ही देर बाद जिले के वरीय पदाधिकारियों से युवकों के परिजनों से बात हुई। बातचीत के आधार पर सभी पुलिस की कार्यशैली से सहमत हैं। आशा है जल्द ही पुलिस इस मामले का पर्दाफास करते हुए लापता उनके घर के सदस्यों को सकुशल ढ़ूंढ निकालेगी।