सिवान: अहिंसा की राह पर चलकर महात्मा गांधी ने दिलाई आजादी

0
gandhi
  • पुण्यतिथि पर श्रद्धासुमन निवेदित, दो मिनट मौन
  • कलेक्ट्रेट के सभागार में एडीएम ने दिलाई शपथ

परवेज अख्तर/सिवान: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर श्रद्धासुमन निवेदित किया गया। इसी क्रम में कलेक्ट्रेट के सभागार में रविवार को जिला प्रशासन के नेतृत्व में बापू को श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान सभी पदाधिकारी व कर्मचारियों ने राष्ट्रपिता के सम्मान में दो मिनट का मौन रखकर उन्हें नमन किया। एडीएम रमण कुमार सिन्हा ने सभी पदाधिकारियों को शपथ दिलाई। कहा कि महात्मा गांधी ने अहिंसा की राह पर चलकर हमें आजादी दिलाई थी। उनके सपनों का स्वराज हमने पाया, लेकिन उनकी कल्पना के सुराज की स्थापना करनी है। ऐसा राज जहां सभी लोग सुखी व समृद्ध हो। राष्ट्र निरंतर तरक्की की ओर अग्रसर होता रहे। एडीएम ने कहा कि गांधी जी के शरीर पर एक धोती व हाथ में लाठी थी। इसी के बल पर उन्होंने हमारी दुनिया बदल दी। वरीय समहर्ता साकेत कुमार व प्रियंका कुमारी, अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी अभिषेक चंदन, एनआईसी प्रभारी राजीव कुमार व डीएसपी ने महात्मा गांधी के तैलचित्र पर पुष्प अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। मौके पर जिला निबंधन पदाधिकारी तारकेश्वर पांडेय, जिला योजना पदाधिकारी राजीव कुमार, डीईओ मिथिलेश कुमार व जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी राकेश कुमार समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

जेडीयू नेताओं ने किया नमन

शहर के गांधी मैदान स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा पर बापू की 74 वीं पुण्यतिथि पर जेडीयू नेताओं ने माल्यार्पण किया। जेडीयू जिला परिषद अध्यक्ष संगीता यादव, जिलाध्यक्ष उमेश ठाकुर, जिला प्रवक्ता सुनील कुमार, अशरफ अंसारी, सौरव कुमार, डॉ. सुरेश कुमार, अविनाश सिंह व राजेश यादव समेत अन्य मौजूद थे। इधर, जनवादी लेखक संघ व ऐपशो के संयुक्त तत्वावधान में गांधी मैदान में बापू की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। युगल किशोर दुबे, प्रो. उपेन्द्रनाथ यादव, वामदेव प्रसाद वर्मा, रामनरेश सिंह, मुरलीधर मिश्रा, उपेन्द्र नाथ सिंह अघिवक्ता, विनोद कुमार ओझा,शशि कुमार सिंह, बदरे आलम, नीरज यादव, डॉ जगन्नाथ प्रसाद, रवीन्द्र यादव भोजपुरिया, भोगेन्द्र झा, महम्मद आलम, मलीह अहमद खान मौजूद थे।