सिवान के जी.बी. नगर थाना पुलिस की मुस्तैदी से एमएलसी चुनाव का वोट नहीं दे सका आरोपित मुखिया कमलेश सिंह

0
  • एसपी श्री शैलेश कुमार सिन्हा के दिशा निर्देश के आलोक में जी.बी. नगर थाना पुलिस प्रखंड मुख्यालय से लेकर बाजार में थी तैनात
  • पुलिस की तैनाती की भनक लगते हीं मुखिया हुआ भूमिगत
  • पुलिस तैनाती को लेकर प्रखंड मुख्यालय से पूरे बाजार में रही अफरा-तफरी का माहौल कायम

परवेज अख्तर/सिवान: सोमवार को सिवान में एमएलसी चुनाव के मद्देनजर पचरुखी प्रखंड मुख्यालय पर उस समय अफरा-तफरी का माहौल कायम रहा जब सिवान जिले के जी. बी. नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री अखिलेश कुमार,अवर निरीक्षक श्री मनोरंजन कुमार, दल बल के साथ मतदान केंद्र से लेकर पूरे बाजार का में गश्त लगाने लगे। बतादें की जिले के जी.बी.नगर थाना पुलिस जो सिवान एसपी श्री शैलेश कुमार सिन्हा के दिशा निर्देश के आलोक में एक्शन मोड में थी।पचरुखी प्रखंड मुख्यालय से लेकर बाजार में लगातार हो रही पुलिस गश्त से लोग हैरत में थे कि आखिर जी.बी.नगर थाना पुलिस एमएलसी चुनाव के दरमियान इतना बेचैन क्यों है।बाद में पता चला कि जी.बी.नगर थाना क्षेत्र व पचरुखी प्रखंड के शंभोपुर पंचायत के मुखिया अजय सिंह उर्फ कमलेश सिंह को एसपी श्री शैलेश कुमार सिन्हा के दिशा निर्देश के आलोक में जी.बी.नगर थाना पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

WhatsApp Image 2022 04 04 at 9.48.12 PM

जैसे ही इस बात की भनक आरोपित मुखिया को पता चला कि यदि हम एमएलसी पद के लिए हो रहे चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करने जाएंगे तो पुलिस मुझे गिरफ्तार कर लेगी। जिस कारण वह एमएलसी चुनाव के लिए डाले जा रहे वोट से वंचित रह गया।यहां बताते चले की पिछले दिनों मुखिया का दो महिलाओं को बेंत से पीटने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. उसके बाद क्षेत्र के बाहर के भी लोगों में मुखिया के इस कार्य को लेकर काफी उबाल था. पीड़ित महिला नरहट गांव निवासी किशोर प्रसाद की पत्नी गिरिजा देवी के लिखित आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज की गई है. महिला ने अपने आवेदन में कहा है कि वह अपने एक रिश्तेदार महिला के साथ कहीं से आ रही थी. इसी बीच मुखिया व सिसवा गांव निवासी तारकेश्वर सिंह के पुत्र अजय कुमार सिंह उर्फ कमलेश सिंह व नरहट गांव के मंजेश कुमार सिंह अपने समर्थकों के साथ रास्ते में हम दोनों महिलाओं से दबंगई दिखाते हुए मारपीट शुरू कर दी.

इस दौरान मौजूद लोग तमाशबीन बने रहे. बाद में मुखिया ने हम दोनों महिलाओं को जबरन अपने गाड़ी में बैठाकर शंभोपुर पंचायत भवन पर लेकर चले आए. मारपीट करने के अलावा मुखिया ने कई जरूरी कागजात भी छीन लिए.जीबी नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री अखिलेश कुमार ने बताया कि महिला के आवेदन पर कांड संख्या 81/22 दर्ज कर मुखिया व अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार पुलिस की दबिश जारी है.जल्द हीं नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।पुलिस की तैनाती देखकर इस बात की जानकारी जैसे ही आरोपित मुखिया को लगी तो वह भूमिगत हो गया। एमएलसी चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं कर सका।

जी.बी.नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री अखिलेश कुमार ने बताया कि वरीय पुलिस पदाधिकारी से लेकर कनीय पुलिस पदाधिकारी तक उसकी गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाए हुए थे।लेकिन वह पुलिस दबिश के कारण भूमिगत हो गया।जिस कारण उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी।उन्होंने कहा कि आगे कार्रवाई हेतु न्यायालय के अनुमति की प्रतीक्षा में पुलिस बैठी हुई है। जैसे हीं न्यायालय द्वारा अनुमति मिलेगा तो उसके निवास स्थान पर 82 की तामिला करते हुए इश्तिहार चस्पा किया जाएगा।यदि वह इश्तहार चश्मा के बाद न्यायालय में आत्मसमर्पण नहीं करता है तो उसके विरुद्ध कुर्की जब्ती की तमिला की जाएगी।वैसे आरोपित मुखिया की गिरफ्तारी का प्रयास करते हुए संदिग्ध ठिकानों पर लगातार प्रयास जारी है।