चर्चित कांड: सिवान के सराय ओपी के चांप व बैशाखी से जुड़ा हुआ था उड़ीसा के सुंदरगढ़ का चर्चित स्वर्ण व्यवसाई हत्या व लूट कांड

0
  • झारखंड के रांची मंडल कारा में बंद अपराधी की तस्वीर से पहचान कर ली गोली के शिकार राहगीर ने
  • गोपालगंज से गिरफ्तार किशोरी महतो व रांची मंडल कारा में बंद वसीम का कॉल डिटेल्स खंगालने में जुटी हुई है झारखंड व उड़ीसा पुलिस
  • 3 राज्यों के वरीय पुलिस पदाधिकारी घटना की पटाक्षेप करने में हैं जुटे

परवेज अख्तर/सिवान:
उड़ीसा के सुंदरगढ़ जिले के बड़गांव डाकघर के समीप चर्चित मां मंगला ज्वेलरी के प्रोपराइटर रोहित वर्मा (28 वर्ष)की गोली मारकर हत्या व अपराधियों द्वारा आठ सौ ग्राम सोना लूट मामले में उड़ीसा पुलिस ने अपने तीव्र अनुसंधान में करीब-करीब घटना का पटाक्षेप कर लिया है। यहां बताते चले कि गोपालगंज पुलिस के सहयोग से उड़ीसा पुलिस ने बीते दिन गोपालगंज जिले के मांझागढ़ थाना क्षेत्र के विशंभरापुर गांव में छापेमारी कर उड़ीसा के सुंदरगढ़ जिले के बड़गांव में एक स्वर्ण व्यवसायी की हत्या कर लूटपाट करने के मामले में तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार अपराधियों के पास से तीन सौ ग्राम सोना,दो लाख रुपये नगद तथा एक पिस्तौल व 13 जिंदा कारतूस बरामद किया गया। उड़ीसा पुलिस को यह असफलता सीसीटीवी फुटेज व टेक्निकल सेल की मदद से मिली।हत्या के बाद लूट की घटना को अंजाम देने वाला गिरफ्तार कुख्यात अपराधी किशोरी महतो उर्फ किशोरी नोनिया है। जो सिवान जिले के सराय ओपी थाना क्षेत्र के चांप गांव का रहने वाला है। यहां बताते चले कि घटना को अंजाम देकर भागते समय एक राहगीर को भी अपराधियों ने गोली मार दी थी।घायल राहगीर का इलाज अभी भी उड़ीसा के एक चर्चित स्थानीय अस्पताल में चल रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

यहां बताते चले कि उड़ीसा पुलिस ने गिरफ्तार कुख्यात अपराधी किशोरी महतो उर्फ किशोरी नोनिया से जब पूछताछ की तो कुख्यात अपराधी ने अपनी संलिप्त होने की बात स्वीकार की। इसी कड़ी में गोपालगंज पुलिस के सहयोग से उड़ीसा से आई पुलिस टीम ने अपने अनुसंधान में तेजी लाते हुए गिरफ्तार कुख्यात अपराधी किशोरी महतो के स्वीकृति बयान के आधार पर पुलिस टीम ने सिवान के महादेवा ओपी क्षेत्र में किराये के मकान में रह रहे उसके भाई अनिल महतो तथा भाभी प्रभा देवी को भी गिरफ्तार कर लिया था। इनके पास से पुलिस ने लूटे गए तीन सौ ग्राम सोना, दो लाख रुपये नगद तथा सोना चांदी का वजन मापने वाला एक मशीन बरामद किया।बाद में गिरफ्तार किए गए किशोरी महतो, अनिल महतो तथा प्रभा देवी से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने उसे गोपालगंज के न्यायालय में प्रस्तुत किया। प्रस्तुत के बाद न्यायालय की अनुमति पर पुलिस तीनों को अपने साथ लेकर उड़ीसा के लिए रवाना हो गई।

पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक उड़ीसा से आए पुलिस टीम को पकड़े गए तीनों लोगों के स्वीकृति बयान में कुछ और तथ्य सामने उभर कर आए।जिस कारण कुछ पुलिस टीम के पदाधिकारी गोपालगंज में ही घटना का पूर्ण रूप से पटाक्षेप करने के लिए ठहर गए। अनुसंधान के क्रम पुलिस टीम ने घटना में शामिल एक अन्य अपराधकर्मी की पहचान कर ली।जो अपराधी किशोरी महतो गिरोह का सदस्य बताया जा रहा है। जो फिलहाल झारखंड के रांची मंडल कारा में बंद है। जैसे ही झारखंड के रांची मंडल कारा में बंद अपराधकर्मी का नाम सामने आया तो गोपालगंज की पुलिस ने अनुसंधान को और तीव्र करने के लिए सिवान पुलिस से सहयोग मांगा। बाद में सिवान के एक तेजतर्रार थानाध्यक्ष ने रांची मंडल कारा में बंद अपराधी का अपराधिक इतिहास तथा तस्वीर इकट्ठा कर गोपालगंज के लिए सोमवार को कूच कर गए।गोपालगंज पहुंचते ही सिवान पुलिस टीम ने सारे साक्ष्य गोपालगंज पुलिस के हवाले कर दिया। बाद में गोपालगंज की पुलिस टीम ने सिवान पुलिस द्वारा दी गई सारे साक्ष्य व तस्वीर को उड़ीसा पुलिस टीम को सौंप दिया।

बाद में उड़ीसा पुलिस ने प्राप्त तस्वीर को अपने पुलिस जगत आला पुलिस पदाधिकारी को व्हाट्सएप के जरिए भेजा।जहां तस्वीर प्राप्त होते ही उड़ीसा पुलिस ने लूटपाट के दौरान अपराधियों के गोली के शिकार राहगीर से उक्त तस्वीर को दिखाया गया तो तस्वीर देखते ही इलाजरत राहगीर ने उक्त तस्वीर को देखते ही अपराधी की पहचान कर ली।यहां बताते चलें कि इलाजरत ने जिस अपराधी का तस्वीर की पहचान की है।वह अपराधी सिवान जिले के सराय ओपी थाना क्षेत्र के बैशाखी दक्षिण टोला मोहल्ला निवासी स्वर्गीय मोहर्रम अंसारी के पुत्र वसीम अकरम उर्फ नसीम हैै।जिसे झारखंड के रांची अंतर्गत खादगढ़ा बस स्टैंड में लगी सत्येंद्र नामक बस पकड़ने के दौरान बीते 2 मार्च को गुप्त सूचना के आधार पर खेलगांव थानाध्यक्ष मुक्तिनारायाण सिंह ने अत्याधुनिक कारतूस समेत कई आपत्तिजनक सामान के साथ गिरफ्तार किया था।बाद में खेलगांव थानाध्यक्ष मुक्तिनारायण सिंह ने वरीय पुलिस पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में कारतूस बरामदगी मामले में खेलगांव थाना कांड संख्या 21/ 2021 धारा 25(1बी) ए/26 शस्त्र अधिनियम के अंतर्गत दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ करते हुए गिरफ्तार वसीम अकरम उर्फ नसीम को जेल भेज दिया था।जो फिलहाल अभी जेल में बंद है।

उड़ीसा पुलिस ने झारखंड पुलिस से साधा संपर्क

झारखंड के रांची मंडल कारा में बंद अपराधी वसीम अकरम उर्फ नसीम मामले में उड़ीसा पुलिस ने झारखंड पुलिस से संपर्क साधा।उधर हत्या व लूट मामले में पूर्ण रुप से पटाक्षेप करने के लिए झारखंड पुलिस भी लगी हुई है।

किशोरी व वसीम का कॉल डिटेल्स खंगालने में जुटी हुई है पुलिस:

गोपालगंज पुलिस के सहयोग से उड़ीसा पुलिस के हत्थे चढ़ा कुख्यात अपराधी किशोरी महतो व झारखंड के रांची मंडल कारा में बंद वसीम अकरम का कॉल डिटेल्स को खंगालने में उड़ीसा तथा झारखंड पुलिस जुटी हुई है।ताकि अनुसंधान के क्रम में यह तथ्य सामने आ जाए कि आखिर किसके द्वारा उड़ीसा के सुंदरगढ़ जिले में बुलाकर इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दिया गया है।और इस अपराधिक घटना में और कौन-कौन से लोग शामिल हैं।