सिवान: 18 गांवों तक नहीं पहुंच सका है आयुष्मान भारत योजना

0
aayusmaan bharat
  • इस योजना में लाभार्थी को 05 लाख रुपये तक का कैशलेश स्वास्थ्य बीमा मिलता है
  • 2018 में कमजोर परिवारों को इलाज देने के उद्देश्य से इस योजना की हुई थी शुरूआत

परवेज अख्तर/सिवान: प्रधानमंत्री की अति महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना अबतक जिले के 18 गांवों तक नहीं पहुंच सकी है। जिसके कारण इन गांवों के लाभार्थियों को इस योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आयुष्मान भारत योजना से वंचित सभी गांव जिले के भगवानपुर हाट, दरौली, हसनपुरा, नौतन, रधुनाथपुर व सिसवन प्रखंड के हैं। विभाग से मिले एक आकड़े के अनुसार योजना से वंचित इन गांवों में लाभार्थियों की संख्या ज्यादा नहीं है। आयुष्मान भारत योजना के तहत सामाजिक व आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को मुफ्त कैशलेश स्वास्थ्य बीमा दिया जाता है। लाभार्थी बीमार होने पर पांच लाख रुपये तक का सरकारी व चयनित प्राईवेट अस्पतालों में अपना इलाज करा सकते हैं। इलाज का लाभ लेने को लेकर लाभार्थी को ई-गोल्डेन कार्ड बनवाना होता है। वर्ष 2018 में इस योजना की शुरूआत की गयी थी। तब से लेकर अबतक चयनित लाभार्थियों को इस योजना का लाभ दिलाने को लेकर मुहीम चलाया जा रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
metra hospital

अबतक एक लाख 29 हजार 455 लाभार्थियों का बना ई-गोल्डेन कार्ड

मिली जानकारी के अनुसार इस योजना के तहत जिले में कुल 11 लाख 04 हजार 657 लाभार्थियों का चयन किया गया है। अर्बन क्षेत्र में कुल 59 हजार 540 जबकि ग्रामीण क्षेत्र के 10 लाख 45 हजार 117 लाभार्थियों का ई-गोल्डेन कार्ड बनाया जाना है। लेकिन ई-गोल्डेन कार्ड बनाने का रफ्तार धीमी होने के कारण जिले में अबतक कुल एक लाख 29 हजार 455 लाभार्थियों का ही ई-गोल्डेन कार्ड बनाया जा सका है।