सिवान: एक लाख 20 हजार नियुक्ति पत्र के वितरण से बहुत लोगों का कलेजा फटा: मंत्री

0

परवेज अख्तर/सिवान: बिहार लोक सेवा आयोग की और से आयोजित शिक्षक भर्ती परीक्षा में चयनित जिले के 2 हजार 388 नवनियुक्त शिक्षक-शिक्षिकाओं को नियुक्ति पत्र देना था। इनमें से सात सौ नवनियुक्त शिक्षकों को पटना में राज्य स्तरीय समारोह में नियुक्ति पत्र दिया गया। जबकि 1 हजार 688 नवनियुक्त शिक्षक-शिक्षिकाओं को गुरुवार को शहर के राजेंद्र स्टेडियम में प्रभारी मंत्री सह राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री आलोक कुमार मेहता द्वारा नियुक्ति पत्र सौंपा गया। इससे पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा नियुक्ति पत्र गांधी मैदान पटना में प्रदान किया गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

इस कार्यक्रम का लाइव प्रसारण राजेंद्र स्टेडियम में किया गया। इसके बाद प्रभारी मंत्री, सांसद कविता सिंह, डीएम मुकुल कुमार गुप्ता, विधान पार्षद विनोद कुमार जायसवाल, विधायक हरिशंकर यादव, सत्यदेव राम, अमरजीत कुशवाहा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्धाटन किया। जिले के नवनियुक्त शिक्षकों को जिला के प्रभारी मंत्री आलोक कुमार मेहता के द्वारा नियुक्ति पत्र का वितरण किया गया।

कहा कि यह दिन सूबे के लिए भी एक ऐतिहासिक होगा। यह पहली बार होगा, जब एक ही दिन में सूबे के एक लाख 20 हजार 336 अभ्यर्थी शिक्षक नियुक्ति-पत्र हासिल किया। सरकार की भी एक बड़ी उपलब्धि मानी जाएगी कि एक साथ इतनी बड़ी संख्या में शिक्षकों की भर्ती कर रही है। बहुत लोगों का कलेजा फट रहा है।

WhatsApp Image 2023 11 02 at 7.44.56 PM 1

इस मंच पर सभी विधायकों को बुलाया गया था लेकिन देख लीजिए की बहुत लोग नहीं आए हैं। वह लोग मुंह दिखाने लायक नहीं है। कहा कि बिहार ज्ञान की धरती है। नियुक्ति के लिए मैं मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री सहित सभी को बधाई देता हूं। मैं सभी से कहना कहना चाहता हूं कि गुरु की गरिमा को बरकरार रखना है। कार्यक्रम का संचालन अवकाश प्राप्त शिक्षक रामजी सिंह ने किया। मौके पर सदर एसडीओ सुनील कुमार, डीईओ मिथिलेश कुमार, डीपीओ स्थापना अवधेश कुमार, डीसीएलआर शहबाज खां समेत जिला प्रशासन व शिक्षा विभाग के वरीय पदाधिकारी व कर्मी मौजूद थे।