सिवान: दस दिन बीत जाने के बाद भी लापता युवकों का पता नहीं

0
  • दस दिन गुजरने के बाद परिजनों का टूटने लगा है सब्र का बांध
  • 04 नवंबर को बड़हरिया के लिए एक साथ निकले थे युवक
  • 03 युवक विशाल सिंह, अंशु सिंह व परमेंद्र यादव लापता हैं

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के तीन युवकों के सात नवंबर से लापता होने के बाद उनके परिजनों का सब्र का बांध टूटने लगा है। हालांकि रहस्मय ढ़ंग से लापता होने की घटना के बाद एसपी अभिनव कुमार के निर्देश पर एफआईआर दर्ज कर पुलिस ने अनुसंधान शुरू कर दिया है। बावजूद दस दिन बीत गए लेकिन तीनों युवकों का कोई सुराग पुलिस को नहीं मिल सका है। लिहाजा बुधवार को लापता युवकों के परिजन एक बार फिर एसपी से मिलने उनके दफ्तर पहुंचे और गुहार लगाई। पुलिस कार्यशैली से नाराज लापता अंशु के पिता मीडिया से बात की और बातों ही बातों में एक बात साफ कर दी। उनके बयान पर गौर करें तो एक वीडियो क्लीप की बात हो रही है जो उनके पास है और उन्होंने प्रशासन को भी मुहैया कराया है। बावजूद इसके क्लीप के आधार पर कोई कार्रवाई होती नजर नहीं आ रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

एसपी के भरोसेमंद अधिकारियों की लगी है टीम

सूत्रों से मिली जानकारी के लिए युवकों के लापता होने की घटना में पुलिस फूंफ-फूंफ कर कदम रख रही है। लापता होने के सहस्य के पर्दाफाश को लेकर एसपी ने अपने भरोसेमंद थानेदारों की टीम गठित की है। टीम में शामिल थानेदारों से मिले इनपुट के आधार पर सुराग के लिए लगातार कार्रवाई की जा रही है। हालांकि अबतक सफलता उसके हाथ नहीं लगी है।

लावारिस हालत में बरामद की गई थी स्कार्पियो

07 नवंबर को एक साथ निकले तीन मित्र विशाल सिंह, परमेंद्र यादव व अंशु देर शाम तक अपने घर नहीं पहुंच सके। अगले दिन लापता विशाल सिंह की काली स्कार्पियो गाड़ी गोपालगंज जिले के मीरगंज थाना क्षेत्र के सब्या के निकट लावारिस हालत में बरामद की गई थी। जिसकी सूचना पुलिस ने परिजनों को दी गयी।