सिवान: इंटर के परीक्षार्थियों को 10 मिनट पहले परीक्षा केंद्र में मिलेगा प्रवेश

0

परवेज अख्तर/सिवान: बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा परीक्षा को शांतिपूर्ण, कदाचारमुक्त माहाैल में संपन्न कराने को लेकर विभिन्न स्तरों पर प्रमाणिक उपाय किए जा रहे हैं। एक फरवरी यानी बुधवार से शुरू हो रहे इंटरमीडिएट की वार्षिक (सैद्धांतिक) परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों को 10 मिनट पहले परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया जाएगा। परीक्षा को लेकर जिला परिषद सभागार में मंगलवार को उप विकास आयुक्त भूपेंद्र प्रसाद यादव की अध्यक्षता में सभी स्टैटिक दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं सशस्त्र बलों के साथ केंद्राधीक्षकों की ब्रीफिंग हुई। इस दौरान सभी को परीक्षा के सफल संचालन के लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा जारी निर्देशों का अक्षरश: अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। डीडीसी ने बताया कि परीक्षा में किसी भी प्रकार की कोई इलेक्ट्रानिक उपकरण के साथ प्रवेश पर पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा। परीक्षार्थियों के लिए जूता-मोजा पहनकर परीक्षा केंद्र में प्रवेश वर्जित रहेगा। परीक्षार्थियों को परीक्षा के लिए विषयवार निर्धारित समय तथा उसके अतिरिक्त 15 मिनट का समय दिया जाएग।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

WhatsApp Image 2023 01 31 at 8.33.33 PM 1

जिले के 37 केंद्राें पर 52083 परीक्षर्थी होंगे शामिल :

जिले के 37 केंद्राें पर आयोजित होगी। वार्षिक परीक्षा में कुल 52 हजार 83 परीक्षर्थी शामिल होंगे। इसमें सदर अनुमंडल में 42 हजार 608 तथा महाराजगंज अनुमंडल में नौ हजार 475 परीक्षार्थी शामिल हैं। परीक्षा दो पालियों में संचालित होगी। इसमें पहली पाली की परीक्षा सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक व दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 1.45 बजे से शाम पांच बजे तक आयोजित होगी। कदाचारमुक्त व शांतिपूर्ण माहौल में परीक्षा संपन्न कराने को लेकर सदर अनुमंडल क्षेत्र में 30 व महाराजगंज अनुमंडल क्षेत्र में सात परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। वहीं सदर अनुमंडल व महराजगंज अनुमंडल में दो-दो आदर्श परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

चार-चार जोनल व सुपर जोनल दंडाधिकारी सहित 60 पुलिस पदाधिकारियों की हुई है प्रतिनियुक्ति :

परीक्षा स्वच्छ वातावरण में कदाचारमुक्त संपन्न हो, इसके लिए परीक्षा केंद्रों पर स्टैटिक दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं सशस्त्र बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार परीक्षा को लेकर 74 वरीय स्टैटिक दंडाधिकारी, 13 गस्ती दल दंडाधिकारी, चार जोनल दंडाधिकारी व चार सुपर जोनल दंडाधिकारी सहित 60 पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। साथ ही 10 सुरक्षित दंडाधिकारी व छह सुरक्षित पुलिस पदाधिकारी भी आवश्यकता के अनुसार मौजूद रहेंगे।

बनाए गए हैं चार आदर्श परीक्षा केंद्र :

जिला शिक्षा पदाधिकारी मिथिलेश कुमार ने बताया कि सदर व महाराजगंज अनुमंडल अंतर्गत कुल चार आदर्श परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जहां वीक्षक से लेकर पदाधिकारी तक महिलाएं ही होंगी। इसमें राजवंशी देवी बालिका उच्च विद्यालय सह इंटर कालेज, डीएवी हाईस्कूल सह राजकीय इंटर कालेज तथा डीएवी पब्लिक स्कूल महाराजगंज व गोरख सिंह कालेज महाराजगंज शामिल हैं।

प्रत्येक 25 परीक्षार्थियों पर एक वीक्षक के अनुपात में की गई है प्रतिनियुक्ति :

कदाचारमुक्त परीक्षा को लेकर प्रत्येक 25 परीक्षार्थियों पर एक वीक्षक के अनुपात में वीक्षकों की प्रतिनियुक्ति की गई है। सभी वीक्षकों को प्रत्येक दिन, प्रत्येक पाली की परीक्षा शुरू हाेने के पूर्व विहित घोषणा पत्र में यह अंकित करना होगा कि उनके प्रभार के अंतर्गत परीक्षार्थियों की जांच उनके द्वारा कर ली गई है तथा उनके पास कोई आपत्तिजनक सामग्री नहीं पाई गई है।

सर्वाधिक विज्ञान संकाय में हैं छात्र-छात्राएं :

जानकरी के अनुसार 52 हजार 83 परीक्षार्थियाें में विज्ञान संकाय के 27 हजार 965, कला संकाय के 21 हजार 609, वाणिज्य संकाय के दो हजार 507 तथा व्यवसायिक संकाय के दो परीक्षार्थी शामिल हैं। इसमें सदर अनुमंडल क्षेत्र स्थित परीक्षा केंद्राें पर विज्ञान संकाय के 23 हजार 529, कला संकाय के 16 हजार 683, वाणिज्य संकाय के दो हजार 394 व व्यवसायिक संकाय के दो तथा महाराजगंज अनुमंडल क्षेत्र स्थित केंद्र पर विज्ञान संकाय के 4 हजार 436, कला संकाय के 4 हजार 926, वाणिज्य संकाय के 113 परीक्षार्थी शामिल हैं।