सिवान में कुख्यात अपराधियों के बीच पुलिस मुठभेड़, एक अपराधी घायल तो कई अपराधी पुलिस के चंगुल में

0
  • बड़हरिया के रसूलपुर गांव में किसी बड़ी घटना की योजना बना रहे थे सभी अपराधी
  • सीएसपी लूट का हो सकता है खुलासा !
  • कई थानों की पुलिस कर रही है गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ
  • घटना :- बड़हरिया थाना के रसूलपुर गांव का

परवेज़ अख्तर/सिवान : किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए सक्रिय अपराधियों के इक्ठ्ठा होने की सूचना पर पहुँची पुलिस टीम व कुख्यात अपराधियों के बीच मुठभेड़ हो गया। दोनों तरफ से चली कई राउंड गोली के बाद पुलिस टीम ने इक्ठ्ठा हुए अपराधियों को शिकस्त करते हुए लगभग आधा दर्जन अपराधियों को धर-दबोचा है।हालांकि यह स्पष्ट नही हो पा रहा है कि अपराधियों के इक्ठ्ठा होने की सूचना पर स्थानीय पुलिस कौन सी टीम के साथ मौके पर पहुँची हुई थी। वह टीम जिला एसआईटी टीम थी या एसटीएफ की टीम।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
vigyapann
ads

इस घटना के बारे में न तो पुलिस जगत के कोई आला अधिकारी ही बता रहे है और न ही स्थानीय ग्रामीण। हालांकि उक्त घटना जंगल मे लगी आग की तरफ फैल चुकी है। लोग जितनी मुंह उतनी बातें करने से परहेज नही कर रहे है। उक्त घटना मंगवार की मध्य रात्रि 1 बजे की बताई जा रही है। घटना के सम्बंध में प्राप्त विवरण के मुताबिक सिवान जिले के बड़हरिया थाना के रसूलपुर गांव में कुछ अपराधियों के इक्ठ्ठा होने की सूचना, पुलिस जगत के एक आला अधिकारी को मिली। तब तक अधिकारी द्वारा तुरंत एक टीम का गठन करते स्थानीय पुलिस की मदद लेते हुए मिशन पर कामयाबी के जिक्र का विवरण करते हुए मौके के लिये रवाना किया।

police in barhariya

गठित टीम अंधेरी रात में रसूलपुर गांव पहुँची। जैसे ही इक्ठ्ठा हुए अपराधी को पुलिस टीम की आने की भनक लगी तो अपराधी एलर्ट हो गए। पुलिस टीम ने सभी अपराधियों को आत्म समर्पण करने के लिए दबाव बनाई। इसी पर सभी अपराधियों ने पुलिस टीम पर फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश करने लगे।लेकिन पुलिस टीम इतना सक्रिय थी कि अपराधियों के मंसूबे पर पानी फेरते हुए शिकस्त दी। जिसमे लगभग आधा दर्जन अपराधियों को टीम ने धर दबोचा है।फायरिंग के दौरान अपराधी के ही गोली से एक अपराधी गम्भीर रूप से घायल होने की भी सूचना प्राप्त है। जिसको आनन-फानन में पुलिस टीम इलाज के लिए रातो-रात किसी बड़े सरकारी अस्पताल में दाखिल कराया है।

shirt

किसी भी मसले पर पुलिस बताने से साफ-साफ इंकार कर रही है। हालांकि गिरफ्तार अपराधियों से पुलिस द्वारा पूछताछ के बाद कई सफलता हासिल होने तथा उन लोगों के निशानदेही पर छापेमारी के बाद सफलता हासिल होने की भी चर्चा खूब है। यहाँ बताते चले कि बीते सप्ताह सिवान जिले के बड़हरिया थाना के बड़हरिया बाजार के राब्या कम्प्लेक्स में स्तिथ बैंक ऑफ इंडिया के सीएसपी में दिनदहाड़े कुख्यात अपराधियों ने धावा बोलते हुए सीएसपी कर्मियों व ग्राहकों को हथियार के बल पर सभी को बंधक बनाते हुए बैंक के ड्रोवर में रखे 2 लाख 30 हजार नकद कैश रुपया लूट लिया थे। और घटना को अंजाम देने के बाद भागने के क्रम में बाजार वासियों व दुकानदार के द्वारा विरोध व पकड़ने की कोशिश करने पर लगभग आधा दर्जन बदमाशों ने ताबातोड़ हवाई फायरिंग करते हुए तरवारा के तरफ भागने में कामयाब रहे थे।

इसी घटना को लेकर पुलिस कप्तान अभिनव कुमार ने चुनौती के रूप में लेते हुए करीब एक सप्ताह से लगे हुए थे। गिरफ्तार अपराधियों के बारे में यह चर्चा है कि जो-जो अपराधी गिरफ्तार हुए है वही लोग सीएसपी लूट कांड सहित जिले के अन्य चर्चित कांड में इन सभी की संलिप्ता है। जिसकी पुलिस गिरफ्तार लोगों के स्वीकृति बयान के आधार पर अनुसंधान कर छापेमारी करने में जुटी हुई है। उधर गोली से घायल बड़हरिया थाना के मल्लिक टोला गांव निवासी अनवार मियां उर्फ अनार मियां के 30 वर्षीय पुत्र एसरारुल हक बताया जाता है जो हाल में ही जेल से जमानत पर छूट कर अपने घर मल्लिक टोला आया हुआ था। उधर यह भी खबर मिल रही है कि रसूलपुर गांव निवासी मनोज सिंह के घर मे ही अपराधियों का जमावड़ा लगा हुआ था।

apache

जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर अपने साथ लेकर चली गई है। गिरफ्तार मनोज सिंह जो सिवान जिले का चर्चित शराब माफिया है तथा पैर से विकलांग है। मनोज के घर के सभी सदस्य घर छोड़ फरार बताये जा रहे है। मनोज के घर के ओसारा के फर्श पर काफी भारी मात्रा में खून पसरा हुआ था और ब्लैक चिकदार शर्ट, रेड कलर का शर्ट तथा सफेद चिकदार शर्ट ,दो जोड़ी हवाई चप्पल,पेय पदार्थ के एक कार्टून मौजूद था। साथ ही उसके ओसारा में एक चौकी ,तथा खटिया व लपेटा हुआ बिस्तर फर्श पर पड़ा हुआ तथा एक लाल रंग का आपची बाइक मौके पड़ा हुआ था ।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जो शर्ट ओसारा में पड़ा हुआ है वह शर्ट का कलर सीएसपी लूट कांड के दौरान सीसीटीवी फुटेज में पुलिस द्वारा देखी गई है। सभी सामानों की रखवाली के लिए बड़हरिया थाना में पदस्थापित सहायक अवर निरीक्षक मनोज कुमार कस्यप व हल्का चौकीदार राम नाथ राम को दल-बल के साथ वहाँ लगाया गया है। इस कांड में सीमावर्ती गोपालगंज व सिवान जिले के कई थानों की पुलिस गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ कर रही है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here