सिवान: मंडल कारा में बंद कैदी याकूब खान को ले गई कश्मीर की एनआईए टीम

0

ट्रांजिट रिमांड पर अपने साथ लेकर कश्मीर चली गई

परवेज अख्तर/सिवान: सीवान जेल में बंद बसंतपुर थाने के शेखपुरा निवासी सल्ले इमाम के पुत्र याकूब खान को कश्मीर एनआईए (राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण) की टीम सोमवार को ट्रांजिट रिमांड पर अपने साथ लेकर कश्मीर चली गई. लगभग 6 माह से सीवान जेल में कई हत्या, लूट एवं रंगदारी के मामले में याकूब खान बंद था. एनआईए की टीम 13 अप्रैल 2022 को सीवान जेल में बंद बड़हरिया थाने के बभन बारा शरीफ गांव निवासी स्वर्गीय शरीफ मियां के पुत्र इरफान उर्फ चुन्नू को अपने साथ ले गयी थी. इरफान पर आंतकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद से सांठगांठ का आरोप था. पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इरफान पर आरोप है कि वह कश्मीर में हुए हथियार सप्लाई के धंधे में संलिप्त था. हथियार जैश-ए- मुहम्मद संगठन के एक सदस्य को सप्लाई की गई थी.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

पुलिस सूत्रों के अनुसार बताया जाता है कि एनआईए की टीम जब इरफान उर्फ चुन्नू को सीवान से कश्मीर ले गई तब उसने हथियार सप्लाई के धंधे में संलिप्त अपने कई साथियों के नाम का खुलासा किया था. इरफान द्वारा जिन अपने साथियों का नाम बताया गया है उसमें से एक नाम याकूब खान का भी है. एनआईए की टीम करीब 10 दिनों से अधिक समय से सीवान में कैंप कर इरफान के साथियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी किया. लेकिन एनआईए की टीम को कोई विशेष सफलता मिलने की सूचना नहीं है. एनआईए की टीम में दो डीएसपी सहित पांच अधिकारियों की टीम सीवान आई है.