सिवान: मालपुआ का भाेग लगाकर मां कूष्मांडा की पूजा कर की गई मनोकामना सिद्ध करने की प्रार्थना

0

परवेज अख्तर/सिवान: मां भगवती की आराधना के पावन पर्व शारदीय नवरात्र के चौथे दिन गुरुवार को मां दुर्गा के चौथे स्वरूप कूष्मांडा देवी की वैदिक विधि-विधान के साथ पूजा अर्चना की गई। मंदिरों और पूजा पंडालों में सुबह से लेकर देर शाम देवी भक्तों की भीड़ रही। घरों में मां का पूजन और दुर्गा सप्तशती का पाठ किया गया। भक्तों ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ मां की आराधना कर आशीर्वाद मांगा। मंदिरों के अलावा पूजा पंडालों में भी मां के दर्शन के लिए भक्त उमड़ पड़े। मान्यता है कि श्रद्धा भाव से मां कूष्मांडा को जो भी अर्पित किया जाए उसे वो प्रसन्नतापूर्वक स्वीकार कर लेती हैं। लेकिन मां कूष्मांडा को मालपुए का भोग अतिप्रिय है। वहीं जिले के कई पंडालों में नवरात्र के पहले दिन ही मां भगवती व अन्य देवी देवताओं की प्रतिमाएं स्थापित कर दी गई हैं। कुछ पंडालों में सोमवार यानि पंचमी को प्रतिमाएं स्थापित की जाएंगी। शेष पूजा पंडालों में सप्तमी के दिन मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

मंदिरों में उमडी श्रद्धा :

नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों के देवी मंदिरों में गुरुवार की सुबह से ही भक्तों का रेला उमड़ पड़ा था, जो देर रात तक देखने को मिला। वहीं शाम में मंदिर परिसर में भक्तों द्वारा माता के समीप दीप जलाने की होड़ लगी रही। इसके पूर्व भोर की आरती के बाद मंदिरों के पट खुलते ही माता के जयकारे से परिसर गूंज उठा। भक्तों ने मां दुर्गा की प्रतिमा का श्रद्धापूर्वक पूजन-अर्चन किया। मंदिरों के आसपास पूजन सामग्री बेचने वालों की दुकानें सजी थीं। इन दुकानों से श्रद्धालुओं ने नारियल, चुनरी, धूप, अगरबत्ती, फल, फूल सहित अन्य सामग्री खरीद मंदिरों में पूजन-अर्चन किया। प्रशासन की ओर से श्रद्धालुओं की सुरक्षा-व्यवस्था के विशेष इंतजाम किए गए थे। सुबह से ही पुरुष व महिला पुलिसकर्मी मंदिरों के आसपास भ्रमण कर सुरक्षा में लगे थे। इसके अलावा सादे वेश में भी पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई थी।

श्रद्धालुओं ने घरों में किया दुर्गा सप्तशती का पाठ :

नगर व ग्रामीण क्षेत्रों के मंदिरों में श्रद्धालुओं ने नारियल व अन्य प्रसाद चढ़ाकर पूजा अर्चना की। मंदिरों व घरों में हवन पूजन भी किया। भक्तों ने घरों में मां के चित्र के समक्ष पूजा की। व्रत रख मां की उपासना की। नगर के कचहरी स्थित काली मंदिर, महादेवा स्थित दुर्गा मंदिर, शेखर सिनेमा स्थित संतोषी माता मंदिर, सुदर्शन चौक स्थित दुर्गा मंदिर, गांधी मैदान स्थित बुढ़िया माई मंदिर, डीएवी मोड़ स्थित दुर्गा मंदिर सहित अन्य मंदिरों में श्रद्धालुओं ने हवन पूजन किया। इस दौरान मंदिरों में भजन कीर्तन का भी दौर चलता रहा।