सिवान: छह हजार लाभार्थियों को वैक्सीनेशन का डोज

0
  • जिले में कोविड-19 के कुल तीन पॉजिटिव मरीज मिले
  • एक्टिव मरीजों की कुल संख्या घटकर 29 तक पहुंच गई
  • 15 वर्ष आयुवर्ग से अधिक के लाभार्थियों का वैक्सीनेशन
  • 27 लाख 03 हजार 477 है जिले के लाभार्थियों की संख्या

परवेज अख्तर/सिवान: जिले में वैश्विक महामारी कोविड-19 संक्रमण से बचाव को लेकर वैक्सीनेशन किया जा रहा है। बुधवार को भी जिले में बनाए गए विभिन्न सत्र स्थलों पर शाम चार बजे तक करीब छह हजार लाभार्थियों को वैक्सीनेशन का डोज दिया जा चुका था। बावजूद इसके वैक्सीनेशन जारी था। विभाग की मानें तो फिलहाल वैक्सीन का दोनों ही डोज जरूरी है। लाभार्थियों को कोई परेशानी न हो इसे लेकर जिले के प्रत्येक प्रखंड सहित जिला मुख्यालय में भी सत्र स्थल बनाया गया है। वहीं दूसरी तरफ जिले में इन दिनों कोविड-19 के पॉजिटिव मरीजों का मिलना काफी कम हो गया है। मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को जांच के दौरान कुल तीन पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इस तरह जिले में एक्टिव मरीजों की कुल संख्या घटकर 29 तक पहुंच गयी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

लाभार्थियों को दिया जा चुका है वैक्सीन का 41 लाख 63 हजार 590 डोज

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले के 15 वर्ष आयुवर्ग से अधिक के लाभार्थियों को अबतक वैक्सीन का करीब 41 लाख 63 हजार 590 डोज दिया जा चुका है। इनमें पहला डोज लेने वालों की कुल संख्या करीब 25 लाख 11 हजार 249 है। जबकि जिले में कुल 27 लाख 03 हजार 477 लाभार्थियों का वैक्सीनेशन का लक्ष्य रखा गया है। वहीं वैक्सीन का दूसरा डोज लेने वाले लाभार्थियों की कुल संख्या करीब 16 लाख 37 हजार 535 है।

कच्छप गति से चल रहा बूस्टर डोज

वहीं बूस्टर डोज लेने वालों लाभार्थियों की संख्या कच्छप गति से आगे बढ़ रही है। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अबतक करीब 14 हजार 923 लाभार्थियों ने बूस्टर डोज लिया है। गौरतलब है कि जिले में 60 वर्ष आयुवर्ग से अधिक, फ्रंट लाइन वर्कर व हेल्थ वर्करों को बूस्टर डोज दिया जा रहा है। बताया गया कि जिले में फ्रंट लाइन वर्कर व हेल्थ केयर वर्करों की कुल संख्या 33 हजार 699 है। बताया गया कि तीन जनवरी से फ्रंट लाइन वर्कर व हेल्थ केयर वर्करों को बूस्टर डोज देने की कवायद शुरू की गयी है। जिले में 15 हजार 316 हेल्थ केयर वर्कर जबकि 18 हजार 383 फ्रंट लाइन वर्करों की संख्या है।