भारत सरकार द्वारा मिली सहायक उपकरण तो खिल उठे दिव्यांगों के चेहरे

0

47 लाभार्थियों में 70 उपकरण का किया गया वितरण

परवेज अख्तर/सीवान:
सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा एडिप योजना के अंतर्गत जिला के दिव्यांगजनों को ट्राई साइकिल सहित विभिन्न प्रकार के अन्य सहायक उपकरण वितरित किया गया. इस दौरान जिले के 04 प्रखण्ड सीवान सदर, दरौंदा, जीरादेई , दरौली के कार्यालयों से 261 लाभार्थी चयनित हुए थे .इस प्रकार कुल 261 लाभार्थीयों को लगभग 21 लाख 93 हजार रूपये की लागत के 456 सहायक यन्त्र एवं उपकरण वितरित किये जायेंगे.मंगलवार को सदर प्रखंड परिसर में आयोजित कार्यक्रम में स्थानीय विधायक अवधबिहारी चौधरी ,एएसडीम अभिषेक चंदन,वरीय उपसमाहर्ता आयुष आनन्द के द्वारा दीप प्रज्वलित कर आयोजन का शुभारंभ किया गया.वही आयोजन के दौरान उपस्थित दिव्यांगजनों को विभिन्न उपकरण वितरित किये गये.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

इस मौके पर कुल 47 लाभार्थियों को विभिन्न प्रकार का सहायक उपकरण वितरित किया गया. इस आयोजित कार्यक्रम में मुख्य रूप से 33ट्राई साइकिल, फो¨ल्डग 01 व्हीलचेयर, 26बैसाखी, 04वा¨कग स्टिक, 01ब्रेल केन,01एम.एस.आई डी किड, 04 बीटीई (कान की मशीन), कृत्रिम अंग एवं कैलिपर्स सहित अन्य प्रकार का उपकरण वितरित किया गया.दिव्यांगजनों में गुड्डु कुमार राकेश कुमार जुल्फिकार आलम अवधेश कुमार और डब्लू ने कहा कि उपकरण मिलने के बाद हम लोग को कहीं भी आने-जाने में बड़ी सहूलियत होती है.आज बहुत ही खुशी के दिन है कि हमें उपकरण मिला और हम एक जगह से दूसरी जगह जा सकते हैं.

यह उपकरण भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण निगम (एलिम्को), कानपुर द्वारा तैयार कराया गया है. जिनके सौजन्य से कार्यक्रम आयोजित किया गया. इस अवसर पर सदर वीडियो रमेन्द्र कुमार,संसद प्रतिनिधि कुणाल आनंद, एलिम्को के कनिष्ठ प्रबन्धक सुरेंद्र कुमार सहित अन्य जन प्रतिनिधि उपस्थित थे. इस मौके पर सदर विधायक अवधबिहारी चौधरी ने कहा कि दिव्यांगों को उपकरण वितरण करने से आपार सुख की प्राप्ति होती है.ट्राइसाइकिल मिलते ही दिव्यांगों के चेहरे खिल उठे. उन्होंने कहा कि जिन लोगों को यह उपकरण नहीं मिला है उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है.वे अपना रजिस्टेशन कराये और उन्हें शिविर लगाकर दिया जाएगा.जिले के विभिन्न प्रखंडों में दिव्यांगों को चिन्हित किया जा रहा है.

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here