कोचिंग से लौट रही छात्रा को अनियंत्रित ट्रक ने रौंदा, मौत

0

परवेज अख्तर​/मैरवा (सिवान) : कोचिंग से पढ़ कर लौट रही साइकिल सवार छात्रा को शुक्रवार की सुबह मैरवा धाम समीप एक अनियंत्रित ट्रक के चालक ने कुचल दिया जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। दुर्घटना के बाद ट्रक लेकर भाग रहे चालक को ग्रामीणों ने घेरकर पकड़ लिया तथा जमकर पिटाई की। घटना की सूचना जैसे ही पुलिस को मिली स्थानीय थानाध्यक्ष दलबल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे और चालक को ग्रामीणों से छुड़ाकर अपने कब्जे में ले लिया। इधर सड़क दुर्घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने मैरवा-सिवान मुख्य मार्ग को दो घंटे तक जाम कर रखा। मुआवजे की मांग को लेकर शव को सड़क पर रख कर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी जिलाधिकारी को बुलाने और मृतक के परिजन को 10 लाख मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। भीड़ में शामिल शरारती तत्वों ने ट्रक पर पत्थर मारकर आगे का शीशा तोड़ दिया और बीच बचाव करने आई पुलिस के साथ धक्का-मुक्की भी की। इसके बाद आक्रोशितों ने चालक पर एक बार फिर से हमला बोल दिया। भीड़ को बेकाबू देख चालक के बचाव में पुलिस को लेकर दो सौ गज तक भागना पड़ा। बाद में मौके पर पहुंचे पुलिस निरीक्षक अरुण कुमार, बीडीओ प्रशांत कुमार और थानाध्यक्ष ने समझा कर स्थिति पर नियंत्रण किया। मामला शांत होने के बाद पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर शव को अंत्यपरीक्षण के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। मृत छात्रा बरासो निवासी आबिद हुसैन की बेटी फरजीना खातून थी। बताया जाता है कि फरजीना खातून मैरवा धाम स्थित एक कोचिंग में पढ़ने गई थी। वहां कोचिंग करने के बाद वह साइकिल से घर लौट रही थी। इसी दौरान गुठनी की तरफ से आ रहे एक ओवर लोडेड ट्रक के चपेट में आकर बुरी तरह कुचल गई जिससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। वह प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय सह इंटर कॉलेज अनुग्रह नगर में कक्षा नौ की छात्रा थी। तीन दिनों पहले ही उसका नामांकन वहां कराया गया था। दुर्घटना के बाद कोचिंग के छात्र और स्थानीय ग्रामीण आक्रोशित हो गए। उधर ट्रक लेकर भाग रहे चालक को मैरवा धाम मोड़ पर लोगों ने रोक लिया। चालक ने भागने की कोशिश की तो उसे पकड़ कर ग्रामीणों ने जमकर धुनाई कर दी। घटना की सूचना मिलते ही मैरवा थाना की पुलिस वहां पहुंची, जहां पुलिस को ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। एएसआई अजीत सिंह ने चालक को कब्जे में ले लिया, लेकिन आक्रोशित ग्रामीणों ने एक बार फिर पुलिस अभिरक्षा से चालक को छुड़ा कर पिटाई करने की कोशिश की। चालक के बचाव में पुलिस को धक्का मुक्की खानी पड़ी। उधर घटना की सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष संजय कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रशांत कुमार, आरक्षी निरीक्षक अरुण कुमार, राजद नेता संजय कुमार सिंह भी पहुंच गए, लेकिन आक्रोशितों ने घटनास्थल पर ही सड़क को जाम कर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। दो घंटे तक ग्रामीण अपनी जिद पर अड़े रहे। बाद में उन्हें समझा कर मना लिया गया। प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रशांत कुमार ने कहा कि नियमों के मुताबिक 20 हजार रुपये पारिवारिक लाभ योजना के तहत मृतका के परिजनों को दिए जाएंगे। कबीर अंत्येष्टि की राशि तीन हजार रुपये नगर पंचायत की मुख्य पार्षद शुभावती देवी ने दी।​[sg_popup id=”5″ event=”onload”][/sg_popup]

विज्ञापन
aliahmad
vigyapann
vig
web designing

accident 2

file pic
मृतक युवती का फाइल फोटो