तरवारा :- कुख्यात प्रियांशु सिंह हत्या मामले में फरार कुख्यात ऋषव जायसवाल की गिरफ्तारी से उठेगा घटना से पर्दा!

0
  • घटना को अंजाम देने के बाद लंबे समय से फरार चल रहा था कुख्यात ऋषव जायसवाल
  • 29 दिसंबर की देर संध्या दारौंदा थाना क्षेत्र के रुकुंदीपुर दर्शनान्द मठ के समीप पंचायत सरकार भवन के पास कुख्यात प्रियांशु सिंह को गोली मारकर की गई थी निर्मम हत्या
  • अपराधियों ने माधोपुर गांव से साथ ले जाकर दिया था घटना को अंजाम

परवेज अख्तर/सिवान :
जिले के जी.बी.नगर थाना क्षेत्र के माधोपुर गांव निवासी चंद्रशेखर सिंह के पुत्र कुख्यात प्रियांशु सिंह को गोली मार निर्मम हत्या मामले में महीनों से फरार चल रहा कुख्यात अपराधकर्मी जो बिगत दिन अंततः दिल्ली में अपने अन्य गुर्गों के एसटीएफ के हत्थे चढ़ ही गया। एसटीएफ की टीम ने कई तकनीकी सेल के आधार पर उसकी गिरफ्तारी की है।कई महीनों से पुलिस कप्तान अभिनव कुमार के द्वारा गठित पुलिस टीम उसकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास कर रही थी।लेकिन वह पुलिस की नजरों से बचता रहा।उधर कुख्यात ऋषव जायसवाल की गिरफ्तारी के बाद से महाराजगंज, दारौंदा,जी.बी.नगर समेत कई थाना की पुलिस ने राहत की सांस ली है।यहां बताते चलें कि 29 दिसंबर की देर संध्या जिले के दारौंदा थाना क्षेत्र के रुकुंदीपुर दर्शनान्द मठ के समीप पंचायत सरकार भवन के पास कुख्यात प्रियांशु सिंह को गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी गई थी।मृतक के पिता चंद्रशेखर सिंह के अनुसार उक्त घटना को अंजाम घर से बुलाकर ले जाकर दी गई थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

उधर मृतक के पिता चंद्रशेखर सिंह के अनुसार उक्त घटना को अंजाम गोरेयाकोठी थाना क्षेत्र के कपिया गांव निवासी आलोक सिंह,महाराजगंज थाना क्षेत्र सिहौता गांव के ऋषव जायसवाल,महाराजगंज के गुड्डू साह तथा दारौंदा थाना क्षेत्र के रुकुंदीपुर गांव निवासी राहुल सिंह ने दिया था।यहां बताते चलें कि उपरोक्त सभी लोग जिले के चर्चित नामी गिरामी कुख्यात अपराधी हैं। जिनके विरुद्ध सिवान जिले के जी.बी.नगर तथा महाराजगंज के अलावा अन्य थानों में कई संगीन मामले अंकित है।उधर पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 1 वर्ष पूर्व कुख्यात ऋषव जयसवाल, गुड्डू साह, राहुल सिंह तथा आलोक सिंह अपना पांव धीरे-धीरे जी.बी.नगर थाना क्षेत्रों में फैलाने लगा।इस बात की भनक जैसे ही स्थानीय थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह को लगी तो श्री सिंह ने उपरोक्त चारों लोगों की सरगर्मी से तलाश शुरू कर दी।इसी क्रम में कुख्यात माधोपुर गांव निवासी प्रियांशु सिंह के घर चारों लोगों को छुपे होने की खबर इन्हें मिली तो उन्होंने त्वरित कार्रवाई करते हुए एक पुलिस टीम का गठन कर माधोपुर गांव में छापेमारी की।जहां पुलिस ने पिस्टल समेत चोरी के बाइक के साथ कुख्यात राहुल सिंह को धर दबोचा था।इसी क्रम में मौके का लाभ उठाकर अन्य अपराधी भाग निकले थे।

उसी समय से जी.बी.नगर थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार सिंह माधोपुर समेत क्षेत्र के अन्य संदिग्ध ठिकानों पर पैनी नजर रखे हुए थे।इसी कारण उपरोक्त चारों कुख्यात अपराधकर्मी जी.बी.नगर थाना पुलिस के भय के कारण दूसरा इलाका अख्तियार कर अपराधिक घटनाओं को अंजाम देते रहे।हालांकि इस संदर्भ में जी.बी.नगर थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह कुछ भी बताने से इंकार कर रहे हैं।यहां बताते चले कि घटना में शामिल चारों लोगों के विरुद्ध जिले के अलग-अलग थाना में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं तथा वे पुलिस के फाइलों में फरार चल रहे है जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस भी पूर्व से ही प्रयासरत थी।की इसी बीच एक कुख्यात अपराधीकर्मी ऋषव जयसवाल को उसके अन्य  गुर्गों के साथ एसटीएफ की टीम ने दिल्ली में धर दबोचा है।

मृतक कुख्यात प्रियांशु सिंह बड़े रसूख रखने वाले परिवार से वास्ता रखता था:

यहां बताते चले कि मृतक कुख्यात प्रियांशु सिंह के मां का देहांत पूर्व में ही हो चुका है।मृतक दो भाइयों में छोटा था।यहां बताते चलें कि मृतक प्रियांशु सिंह बड़े रसूख रखने वाले परिवार से वास्ता रखने वाला छोटी सी ही उम्र में अपराध की दुनिया में धीरे-धीरे पांव पसार कर कई छोटी-बड़ी घटना को अंजाम देने के बाद दिन पे दिन चर्चित होते गया।हालांकि उसके परिवार वालों ने उसकी उच्च शिक्षा के लिए कई बड़े-बड़े विद्यालयों में दाखिला करवाया।लेकिन परिजनों के मनोकामना पर पानी फेरते हुए प्रियांशु अपराध जगत में पांव रख लिया।अंतः हुआ यूं कि उसके साथी ने उसे गोली मार मौत की नींद सुला दी थी।

कुख्यात ऋषव जायसवाल से इंस्पेक्टर श्री प्रमोद सिंह करेंगे पूछताछ:

जी.बी. नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह जो दिल्ली में एसटीएफ टीम के हत्थे चढ़ा कुख्यात छपरा जेल से फरार ऋषव जायसवाल से पूछताछ करेंगे।पूर्व में श्री प्रमोद कुमार सिंह कुख्यात ऋषभ जायसवाल समेत अन्य इसके साथियों को गिरफ्तार कर भेज चुके हैं।हालांकि श्री सिंह इसके बारे में कुछ भी बताने से साफ साफ इंकार कर रहे हैं।लेकिन सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कुख्यात ऋषव जायसवाल की गिरफ्तारी के लिए उसके कई संदिग्ध ठिकानों पर जी.बी. नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर श्री प्रमोद कुमार सिंह जो थाने के लंबित पड़े एक चर्चित मामले में कई बार छापेमारी कर चुके हैं।