एक हजार किलोमीटर की दूरी तय कर अपनी मंजिल पहुंचे युवक

0
lockdown

रातभर चंवर में रहने के बाद दूसरे दिन पहुँचे अस्पताल

परवेज अख्तर/सीवान:- इस लॉक डाउन ने अभी मजदूरों को खाने पर भी मजबूर कर दिया है.जो मलोग जहाँ फसे है वह से अपने घर जाने के लिए बेचैन है.इसी गहरी में उड़ीसा के राउरकेला से साइकिल सवार होकर जिले के पीनारथू निवासी बासदेव प्रसाद के पुत्र पवन कुमार,राम निहोरा सिंह के पुत्र अखलेश सिंह पच दिनों में अपने मंजिल तक पहुच गये.युवकों ने बताया कि हमलोग 27 अप्रैल की परतः राउरकेला के वेदव्यास मुहल्ले से गांव के लिए निकले जिसके बाद 2 मई को अपने गांव पहुँचे.वही हमलोगों ने गांव में प्रवेश करने से पहले अपने पैक्स अध्यक्ष को फोन कर आने की सूचना दिया.उन्होंने गांव में प्रवेश न करने की बात कहते हुए गांव के बाहर ही रहने को कहा और हमलोगों ने गांव के बाहर कवर में ही रात गुजारी सुबह होने पर हमलोग स्तानीय पीएचसी गये जहां चिकित्सकों ने सदर अस्पताल भेज दिया और अस्पताल में हमारी स्क्रीनिंग करायी गयी.