सेना के जवान का शव पहुंचते ही मचा कोहराम

0
soldier

बीएसएफ के जवानों ने दिया गार्ड ऑफ ऑनर

प्रशासनिक अधिकारियों के नही पहुचने से लोगो मे आक्रोश

परवेज़ अख्तर/सिवान:- जिले के जीरादेई प्रखंड के छोटका मांझा पंचायत के हरिपुर गांव के बीएसएफ के सेना के जवान सूरजभान मांझी की मौत ब्लड कैंसर से मंगलवार को दिल्ली के बत्रा हॉस्पिटल में हो गई. सेना के अधिकारियों तथा परिजनों द्वारा बुधवार के देर रात्रि जवान का शव उनके पैतृक गांव हरिपुर लाया गया. गुरुवार की सुबह उनके पैतृक गांव में ही दाह संस्कार किया गया. शव के साथ आये सेना के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया. तथा सलामी देकर जवान की अंतिम विदाई दी गई. सेना के जवान के अंतिम विदाई के वक्त जिला तथा प्रखंड से किसी भी प्रशासनिक अधिकारी के नहीं पहुंचने से लोगों के अंदर आक्रोश व्याप्त था. लोग स्थानीय प्रशासन से लेकर जिला प्रशासन को कोस रहे थे. लोगों का आरोप था कि जो व्यक्ति देश के लिए लड़ते लड़ते गंभीर बीमारी के चपेट में आ कर मौत को गले लगा लिया. लेकिन उसी के मौत पर जिला प्रशासन से लेकर प्रखंड स्तरीय अधिकारियो के पास उसके अंतिम विदाई में पहुंचने का समय ही नहीं मिला. अधिकारियों के नहीं पहुंचने से लोगों में काफी आक्रोश है. लोगों ने कहा कि अधिकारियो के पास सेना के जवान के लिए दो शब्द भी नहीं थे. स्थानीय लोगों ने कहा कि सेना के जवान के शव के पहुंचने की सूचना जिला प्रशासन को दे दिया गया था. उसके बावजूद कोई भी अधिकारी नहीं पहुंचे.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal