यूपी के तीन शूटरों ने दिया घटना को अंजाम, कैफ के चाचा को भेजा गया जेल

0
goli

परवेज अख्तर/सिवान : शहर के रामराज्य मोड़ पर 15 मई की शाम दिनदहाड़े अपराधियों द्वारा श्याम बाबू उर्फ जावेद की हत्या के पीछे किसका हाथ था इसका पर्दाफाश पुलिस ने कर दिया है। शुक्रवार को एसपी नवीन चंद्र झा ने हत्याकांड की जांच पूरी करने के बाद बताया कि जावेद की हत्या यूसुफ की हत्या के आरोप में जेल में बंद मो. कैफ उर्फ बंटी के इशारे पर हुई। कैफने जेल से साजिश रची और जेल के बाहर उसके चाचा मिस्टर मियां ने इस कांड को अंजाम दिलाने में लाइनर सहित शूटरों को रुपए देने तक की भूमिका अदा की। जावेद की हत्या कराने के लिए कैफ ने सिवान जेल में बंद महेश पासवान से संपर्क किया और महेश ने उसे शूटरों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। इसके बाद कैफ ने अपने चाचा की मदद से यूपी के बलिया जिले के शूटरों को जावेद की हत्या की सुपारी देते हुए तीन लाख रुपए दिए। जावेद की हत्या की सुपारी बलिया के कुख्यात शूटर सोनू यादव, सतन यादव सहित एक अन्य ने ली। रुपए मिलने के बाद सोनू ने अपने तीन साथियों के साथ इस घटना को सरेआम अंजाम देते हुए जावेद की निर्मम हत्या कर दी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal