कलस्टर में लगाये जायेंगे तीन हजार सहजन के पौधे

0

जीविका द्वारा चलाया जा रहा अभियान

परवेज अख्तर/सिवान :- वर्तमान समय में पर्यावरण को संतुलित और रोग प्रतिरोधक क्षमता का विस्तार दोनों ही आवश्यक है. ऐसे में सहजन का पौधा दोनों परिस्थितियों में कारगर है. जीविका द्वारा मिले प्रत्येक कलस्टर में 3 हजार सहजन के पौधे लगाने के लक्ष्य को पूरा करने में न सिर्फ जीविका के कर्मी बल्कि जीविका से जुड़े समूह भी लग गए है. रविवार को रघुनाथपुर क्लस्टर के राजपुर गाव स्थित रौशनी महिला ग्राम संगठन के महादेव समूह में जीविका द्वारा चलाई जा रही सहजन पौधा रोपण अभियान के तहत एचएनएस एमआरपी गोपीनाथ सोनी की देखरेख में सहजन की पौधारोपण किया गया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

जिस दौरान एचएनएस एमआरपी द्वारा उजाला महिला ग्राम संगठन में सहजन की पौधा की विशेषता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सहजन कि पतियों खाने से कई प्रकार की विटामिन प्राप्त होता है. उन्होंंने कहा कि इस पतियों में प्रोटीन, विटामिन B6, विटामिन c, विटामिन A, विटामिन E आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, जिंक प्रचुर मात्रा में पाए जाते है. जो प्रत्येक मनुष्य के शरीर की तत्व को पूरी करती है. उंन्होने कहा है जिसके पत्ते की सुप पिने व दाल में सेवन करने से बदलते मौसम में शरीर के बचाव जे साथ रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है. जिससे मनुष्य को रोगो से लडने ताकत प्राप्त होती है.

उंन्होने कहा कि धात्री महिलाओ के लिए सहजन की पत्ता काफी लाभदायक होता है. वहीं उंन्होने कहा कि इसके पते से ब्लड शुगर लेबर व कोलेस्ट्रॉल लेवल को संतुलित करता है. उन्होंने कहा की इसका फूल में न्यूट्रिशनल तत्व पाई है जिसमे सर्दी जुकाम के लिए फायदे मन साबित होता है. उंन्होने कहा कि सभी महिला ग्राम संगठन में जीविका दीदियों को यह पौधा लगाना आवश्यक है. यह मौसम सहजन की पौधरोपण के लिए मौसम अनुकूल रहता होता है. इस मौके पर बीके रेखा कुमारी, समूह की सदस्य संगीता देवी, सीएम सहित अन्य जीविका दीदियां मौजूद थी.