समस्तीपुर में दर्दनाक हादसा, मां व 4 बच्चों की डूबने से मौत, जेसीबी के गड्ढे ने रामपुकार के परिवार को किया खत्म

0

समस्तीपुर: जिले के बिथान प्रखंड के मोरकाही गांव में घास काटने जाने के दौरान एक महिला व उसके चार बच्चों की पानी भरे गड्ढे में डूबने से मौत हो गयी। ग्रामीणों ने बताया कि जेसीबी से काटी गयी मिट्टी से बने गड्ढे में पानी भरा हुआ था। पहले कोमल फिसल कर गड्ढे में गिर गयी। उसको बचाने के लिए मां व बाकी एक-एक कर सभी पानी में गये और डूब गये। मृतकों की पहचान मोरकाही गांव के रामपुकार यादव की पत्नी भूखली देवी (40), कोमल कुमारी (17), दौलत कुमारी (11), पंकज कुमार (10) व गोलू कुमार (12) के रूप में की गयी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

बिथान प्रखंड के मोरकाही गांव निवासी रामपुकार यादव के परिवार को जेसीबी से खोदे गये गड्ढे ने निगल लिया। अब घर में उसकी बूढ़ी मां के सिवा और कोई नहीं बचा है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव से पूरब चौर की ओर कुछ दिनों पूर्व जेसीबी से मिट्टी काटी गयी थी। हालांकि कोई ग्रामीण यह बताने को तैयार नहीं है कि मिट्टी किस काम के लिए काटी गयी थी, लेकिन यह बताया कि मिट्टी कटाई से दस से पंद्रह फीट गड्ढा था। लगातार हो रही बरसात के कारण उस गड्ढे में पानी भर गया था।

ग्रामीणों के अनुसार, महिला भूखली देवी बच्चों के साथ घास काटने के लिए चौर में जा रही थी। संभवत: उसे गड्ढे का अंदाजा नहीं था जिससे सभी उसी के समीप से गुजर रहे थे। जिससे यह हादसा हुआ। ग्रामीणों ने बताया कि अब रामपुकार के परिवार में कोई नहीं बचा। लोगों ने बताया कि रामपुकार छोटा किसान है। वह किसी तरह अपने परिवार का भरण पोषण कर रहा था।

गौरतलब है कि बरसात शुरू होने के पूर्व ही डीएम शशांक शुभंकर ने सभी बीडीओ व सीओ को चिमनी और अन्य जगह खोदे गये गड्ढों के पास लाल झंडा लगवाने और घेराबंदी करवाने का आदेश दिया था। लेकिन उसका अनुपालन नहीं हुआ जिससे यह घटना हुई। इधर घटना की जानकारी मिलते ही गांव के अलावा आसपास के लोगों की चौर में भीड़ उमड़ गयी। महिला से लेकर पुरूष तक की देखते ही देखते चौर में भीड़ लग गयी। सभी एक साथ पांच लोगों की मौत होने की घटना से स्तब्ध थे। रामपुकार के परिवार की मिट जाने पर सभी गहरा दुख जता रहे थे। उनका कहना था कि भगवान ने यह क्या कर दिया। रामपुकार को कैसा दिन दिखाया।