पीसीसी एवं नाला निर्माण कराने को ले ग्रामीणों ने की सड़क जाम

0
hussainganj me sadaj jam

परवेज अख्तर/सिवान :- जिले के सिसवन चैनपुर ओपी क्षेत्र के मधवापुर बाजार पर गुरुवार को सिसवन-सीवान स्टेट हाईवे पर करीब सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण उमड़ पड़े. इसके बाद पीसीसी एवं नाला निर्माण कराने को लेकर पंचायत जनप्रतिनिधियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. वह जमकर पंचायत जनप्रतिनिधियों के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए स्टेट हाईवे को करीब दो घंटे तक जाम कर दिया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

जिससे सिसवन-सीवान यातायात पूरी तरह बाधित हो गया. इधर जाम होने की सूचना पर चैनपुर थाने की पुलिस मौके पर आक्रोशितों को समझा-बुझाकर शांत कराया. ग्रामीणों का आरोप था कि नयागांव पंचायत के करीब एक ही व्यक्ति 17 सालों से मुखिया के पद पर कार्यरत है. बावजूद कई वर्षों से ग्रामीणों ने पीसीसी एवं गली, नाली बनाने को लेकर अपनी मोहल्ले के समस्याओं को दुरुस्त करने को ले बार-बार मांग करते आ रहे है, लेकिन पंचायत के जनप्रतिनिधियों ने इसका नजरअंदाज कर दिया है.

जिससे आज भी करीब गांव के सैकड़ों घर नाला नहीं होने से वह सड़क नहीं होने से नारकीय जीवन जीने पर विवश है. ग्रामीणों ने बताते चलें कि नया गांव पंचायत अंतर्गत मधवापुर के वार्ड नंबर दो में डॉ श्याम लाल प्रसाद के घर से नया घाट दहा नदी के तट तक नाला व पीसीसी निर्माण को लेकर कई वर्षों से मांग करते आ रहे हैं. इधर मोतीलाल महतो के घर से मुंशी भगत के घर तक ईंटाकरण व नाला निर्माण को लेकर मांग करते आ रहे है. दो नंबर वार्ड के धनंजय तिवारी वार्ड पार्षद है.

मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत गली नाली पीसीसी निर्माण कराने की जिम्मेवारी वार्ड पार्षदों की है. इधर वार्ड पार्षद एवं पंचायत जनप्रतिनिधि के विवाद के चलते आज तक इस क्षेत्र में विकास कार्य नहीं हुआ है. जिससे ग्रामीणों में जनप्रतिनिधियों के खिलाफ आक्रोश भरा हुआ है. ग्रामीणों कहना था कि अब तक गांव में पीसीसी व नाला का निर्माण नहीं हो सका हैं.

ग्रामीणों ने बताया कि पिछले वर्ष वार्ड नंबर दो में सड़क और नाला को लेकर नर्क जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई थी. तब ग्रामीणों ने चंदा इकट्ठा कर कर करीब दो सौ मीटर तक ईटाकारण सड़क का निर्माण किया था, बावजूद जनप्रतिनिधियों ने इस पर पहल नहीं किया. जिसको लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त था. मुखिया के खिलाफ भी ग्रामीणों ने मुर्दाबाद के जमकर नारे लगाए. यही नहीं धरना प्रदर्शन स्थल पर मुखिया व जिलाधिकारी को बुलाने की मांग पर अड़े हुए थे. सूचना पर पहुंचे थानाघ्यक्ष राकेश कुमार ने दल बल के साथ पहुंचकर आक्रोशित ग्रामीणों को शांत कराया.

जाम का नेतृत्व कर रहे संतोष तिवारी, विश्वजीत प्रसाद, अंकित तिवारी, राजन सिंह, आशुतोष साह, संजीव भारती, चन्दन सिंह, कमलेश महतो, छोटू सिंह, मनीष तिवारी, अमित तिवारी, राजा चौरसिया, उमाशंकर सिंह, विकास तिवारी, आदि दर्जनों लोग मौजूद थे. वहीं पंचायत मुखिया आनंद सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत जो वार्ड पार्षद की जिम्मेदारी देनी थी. वह मैंने अपना कोरम पूरा कर कर दिया, लेकिन जो जरूरियात नाला निर्माण करना था वह वार्ड पार्षद ने नहीं निर्माण करवाया. जिससे विवाद का कारण बन गया. अब भी योजना में पैसा बाकी है. उन्होंने कहा कि वार्ड पार्षद से राय विमर्श कर तुरंत नाले का निर्माण कराई जाएगी.