स्वयंसेवकों ने किया पथ संचलन

0
path chalan

परवेज अख्तर/सिवान: विजयादशमी से पूर्व रविवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने शहर के प्रमुख मार्गों पर पथ संचलन कर हिंदू समाज की एकता का प्रदर्शन किया। इस दौरान सभी स्वयंसेवक नए गणवेश में नजर आए। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयं सेवकों के शस्त्र पूजन और प्रदर्शन के बाद पथ संचलन शहर के मखदुम सराय महावीर पथ स्थित महावीरी सरस्वती शिशु मंदिर परिसर से रवाना हुआ, जो चिकटोली मोड़, बनियाटोली, शांति वट वृक्ष, नगर थाना रोड, बाटा मोड़, जेपी चौक होता हुए वापस विद्यालय परिसर में पहुंचा। वहां संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने स्वयंसेवकों को संबोधित किया। इस मौके पर शहर में कई स्थानों पर स्वयंसेवक संघ की ओर से ध्वज पूजन और शस्त्र पूजन किया गया। इसके बाद पथ संचालन कार्यक्रम हुए। पथ संचलन में सबसे आगे स्वयंसेवक जन्मेजय कुमार केसरिया ध्वज लहराते हुए नजर आए तो उनके पीछे ध्वज लेकर स्वयंसेवक कदम से कदम मिला रहे थे। कदम ताल करते हुए दंड और खड्ग के साथ स्वयंसेवकों को देख आम लोगों के भी कदम ठहर गए। पथ संचलन में बैंड की मधुर धुन पर कदम से कदम मिलाते हुए कार्यकर्ता जयघोष करते हुए नज़र आए । इस दौरान जयघोष की आवाज लोगों का ध्यान पथ संचलन की ओर खींच रही थी। जगह-जगह पुष्प वर्षा कर पथ संचलन का स्वागत किया गया। कार्यक्रम में 12 साल के बच्चे से लेकर 76 साल तक के बुजुर्ग शामिल हुए। प्रांतीय बौद्धिक प्रमुख राजा राम ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना से लेकर अब तक के इतिहास की जानकारी दी। संघ की स्थापना के उद्देश्य से भी स्वयंसेवकाें को अवगत कराया गया। मौजूद स्वयंसेवकों ने शस्त्रों को प्रणाम किया। पथ संचलन में सबसे आगे दंड के साथ स्वयंसेवक चल रहे थे तो उनके पीछे की पंक्ति तलवार धारण किए हुए स्वयंसेवकों की थी। इस दौरान मुख्य सांसद ओमप्रकाश यादव, नगर उपसभापति बबलू साह, शिक्षक मनीष कुमार, रामचंद्र प्रसाद, मनोरंजन कुमार सिंह, किशुन ठाकुर, पूर्व पार्षद देवेंद्र गुप्ता, चंद्रशेखर आर्य, वीरू शाही, डॉ. सुनील कुमार, त्रिभुवन पाठक, उत्पल पांडेय, रंजीत शाही समेत काफी संख्या में स्वयंसेवक शामिल थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal