चंदन का शव पहुंचते ही परिजनों में मचा कोहराम

0
chandan

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के भगवानपुर हाट थाना क्षेत्र के साघर निवासी चंद्रिका महतो उर्फ मकुन महतो के 18 वर्षीय पुत्र चंदन की मौत बुधवार की रात हसनपुरा गांव स्थित स्टेट हाइवे 73 के समीप टेंपों की टक्कर से हो गई,जबकि बाइक पर सवार दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। घटना के बाद पुलिस ने पोस्टमार्टम करा परिजनों को चंदन का शव सौंप दिया पोस्टमार्टम के बाद गुरुवार को जब चंदन का शव घर पहुंचा परिजनों में कोहराम मच गया। आसपास के ग्रामीण वहां पहुंचकर परिजनों को सांत्वना दे रहे थे। पूर्व मुखिया मनमोहन मिश्र, ग्रामीण अंगद मिश्र, शिक्षक अफताब आलम सहित अन्य ग्रामीणों ने मृतक के घर पहुंच परिजनों को सांत्वना दिया। पुत्र की मौत की खबर सुन विधवा मां फुलझड़ी कुंवर एवं छोटी बहन नंदनी कुमारी का रो-रोकर बुरा हाल था। पिता की मौत के बाद से मां का सहारा एवं बहन का एक मात्र भविष्य था चंदन। ग्रामीणों के अनुसार चंदन देर शाम किसी की बाइक से घर के लिए सब्जी खरीदने की बात कह कर अपने चचेरे भाई त्रिलोकी प्रसाद एवं पड़ोसी राजा कुमार के साथ मशरख की ओर गया था। लौटने के क्रम में हसनपुरा बाज़ार के समीप सामने से आ रही टेंपो की टक्कर से चंदन की मौत घटनास्थल पर ही हो गई जबकि उसका चचेरा भाई त्रिलोकी प्रसाद एवं राजा कुमार गंभीर रूप से घायल हो गए। समाचार प्रेषण तक थाने मी प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है। शादी का मंडप भी नहीं हटी और कफन में लिपटा हुआ पहुंचा भाई का शव बाइक-टेंपो की टक्कर में साघर निवासी चंद्रिका महतो के पुत्र चंदन का शव उसी आंगन में पोस्टमार्टम के बाद रखा गया जिस आंगन में मात्र 12 दिन पूर्व उसकी चचेरी बहन की शादी का मंडप खड़ा था। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल था।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal