बिहार में नसबंदी कराने आई महिला की ऑपरेशन के दौरान काट दी आंत

0

मुंगेर: बिहार के मुंगेर जिले का सदर अस्पताल प्रशासन आये दिन किसी न किसी मामले को लेकर अक्सर सुर्खियों में बना रहता है। शुक्रवार की रात सदर अस्पताल में बंध्याकरण (नसबंदी) ऑपरेशन के दौरान महिला की आंत कट जाने की खबर को लेकर मरीज के परिजनों ने जमकर हंगामा किया। हालांकि बाद में अस्पताल प्रबंधन द्वारा परिजनों को समझा-बुझाकर शांत किया गया। इस तरह के चूक से खास कर बंध्याकरण करवाने की इच्छुक महिलाओं में चिंता बढ़ सकती है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

बंध्याकरण ऑपरेशन के दौरान हुई चूक

सदर अस्पताल में शुक्रवार को कुल 18 महिलाओं का बंध्याकरण ऑपरेशन किया गया, जिसमें शहर के लालदरबाजा निवासी राजेश कुमार पासवान की पत्नी प्रगति देवी का भी बंध्याकरण ऑपरेशन किया गया। परिजनों ने बताया कि ऑपरेशन के दौरान चिकित्सक द्वारा बताया गया कि प्रगति की चमड़ी मोटी है, स्टीच करने में दिक्कत हो रही है। ऑपरेशन के बाद प्रगति को वार्ड में एडमिट किया गया। रात लगभग 8:30 बजे एक नर्स ने बताया कि ऑपरेशन के दौरान गलती से प्रगति का आंत कट गया है, उसे बेहतर इलाज के लिए भागलपुर रेफर करना होगा। जिसके बाद प्रगति के परिजन अस्पताल परिसर में हंगामा करने लगे।

चिकित्सक ने बताया आंत नहीं, फ्लैटी ट्यूब कटा था

इस संबंध में जब बंध्याकरण ऑपरेशन करने वाली महिला चिकित्सक डॉ निर्मला गुप्ता से बात करने की कोशिश की गयी तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया। जबकि ऑपरेशन के दौरान मौजूद एनेस्थिेटिक डॉ पंकज सागर ने बताया कि आंत के पास दो फ्लैटी ट्यूब होता है। प्रगति के आंत के पास एक ही फ्लैटी ट्यूब पाया गया, जो गलती से कट गयी थी। लेकिन उसे फिर स्टीच कर ठीक कर दिया। घबराने की कोई बात नहीं। फिर भी एहतियातन उसे भागलपुर रेफर किया गया। ताकि बाद में किसी तरह की कोई परेशानी न हो।

ऑपरेशन के दौरान एकाध केस में चूक होना कोई बड़ी बात नहीं है। वैसे घबराने वाली कोई बात नहीं है। जो भी चूक हुई, उसमें ससमय सुधार कर लिया गया। महिला को बेहतर ऑब्जर्वेशन के लिए भागलपुर रेफर किया गया।
रामप्रीत सिंह, अस्पताल उपाधीक्षक