​सड़क दुर्घटना में युवक की मौत, गांव में पसरा सन्नाटा​

0
sadak durghatna

परवेज अख्तर/बड़हरिया (सिवान) : बड़हरिया -सिवान मुख्य पथ पर मंगलवार की सुबह परिजनों के इलाज के लिए पर्ची लगाने सिवान आ रहे युवक की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। मृतक ने बरहनी चंवर में सड़क किनारे खड़े एक ट्रक में पीछे से टक्कर मार दी। जिससे उसकी मौत घटना स्थल पर ही हो गई। मृतक बड़हरिया थाना क्षेत्र के नवलपुर महबूब छपरा गांव निवासी मुन्ना यादव (32) था। सूचना पाकर मौके पर पहुंची मुफ्फसिल थाना ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। बताया जाता है कि मुन्ना यादव अपनी फुआ को चिकित्सक से दिखाने के लिए बाइक से सिवान डाक्टर के यहां पर्ची लगाने आया था। इसी क्रम में बड़हरिया-सिवान रोड के बरहनी स्थित धर्म कांटा के पास ट्रक के पिछले हिस्से में टक्कर लगने से घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही गांव में कोहराम मच गचा। घटना की सूचना मिलते ही बड़हरिया के राजद नेता अधिवक्ता मो. मोबीन और मृतक के मझला भाई मनोज यादव और अन्य लोग मृतक की पहचान कर पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही मुफ्फसिल थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंच खानापूर्ति करते हुए शव एवं उसके बाइक को कब्जे में ले लिया। शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया। मुन्ना अपने तीन भाई एवं एक बहन में सबसे बड़ा था। मृतक मुन्ना यादव के पिता दल्लू यादव, माता सुगिया देवी, भाई मनोज यादव और मुकेश यादव, बहन रीता देवी है। सभी का रो-रोकर बुरा हाल है। मुन्ना यादवक कि शादी 2005 में हुई थी जिसके दो लड़के और एक लड़की है जिसमें सबसे बड़ा पुत्र आठ वर्ष का दीपक है। दूसरा पुत्र प्रिंस दो वर्ष तथा पुत्री स्नेहा पांच वर्ष की है। मृतक की पत्नी सुनीता देवी का रो-रोकर बुरा है। वह बार-बार रोते रोते बेहोश हो जा रही थीं। राजद नेता अधिवक्ता मो. मोबिन, मो. ऐहतेशामुल हक सिद्दीकी,विजय चंद्र राय, संतोष यादव, जिलापार्षद जुल्फेकार अहमद मिठ्ठू बाबू, कॉग्रेस नेता रिजवान अहमद, नूर आलम, शमशाद अहमद, जैनुल, अखलाख अहमद, अच्छे सिंह, रामनाथ यादव, लक्ष्मण यादव, भरत यादव आदि ने पहुंच मृतक के परिजनों को सांत्वना दी। आठ वर्ष के पुत्री ने दी पिता को मुखाग्नि मुन्ना कुमार यादव की मौत के बाद उसके आठ वर्ष का पुत्र दीपक कुमार ने जब मुखाग्नि दी तो पुत्र एवं अन्य परिजन समेत दाह संस्कार में गए अन्य लोग फफक पड़े। वहां उपस्थित लोगों की आंखों से आंसू गिरने लगे। आसपास के लोग परिजनों को किसी तरह ढ़ाढस बंधा रहे थे।

गांव में शव आते ही मचा कोहराम

सड़क दुर्घटना में मृतक मुन्ना यादव का शव पोस्टमार्टम के बाद गांव पहुंचते ही परिजनों के चीत्कार से पूरे गांव में कोहराम मच गया। पिता, माता, पत्नी, भाई, बहन एवं बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है। पत्नी रोते-रोते बेहोश हो जा रही थी वहीं बच्चे भी पिता को देख रहे थे। आसपास के लोग उसे किसी तरह संभाल रहे थे।

sadak durghatna in barharia