….और अब कौन होगा महाराजगंज का महाराज, नेताओं में मची होड़

0
neta

परवेज़ अख्तर/सिवान : महाराजगंज का महाराज बनने के लिए सभी दल के नेताओं में होड़ मची हुई है। जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव का समय नजदीक आता जा रहा है, क्षेत्र का राजनीतिक तापमान बढ़ता जा रहा है। उम्मीद की जा रही है कि दस से पन्द्रह सितंबर के बीच कभी भी चुनाव की डुगडुगी बज सकती है। चुनाव में मुख्य मुकाबला एनडीए और महागठबंधन के उम्मीदवारों के बीच होना तय है। वर्तमान विधायक हेमनारायण साह एनडीए से अपना टिकट कन्फर्म मानकर ताबड़तोड़ सड़कों का उद्घाटन व शिलान्यास में जुटे हुए हैं। इसके साथ ही अपने कार्यकाल में किए गए कार्यों के साथ-साथ नीतीश कुमार के नेतृत्व में प्रदेश में किए गए विकास कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने में जुटे हुए हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

हालांकि उन्हीं के पार्टी के उमाशंकर साहू व कई अन्य नए चेहरे भी टिकट मिलने का दावा करते हुए खुद को पार्टी का सच्चा सिपाही व जनता में अपनी पैठ का दावा करते हुए टिकट कंफर्म बता रहे हैं। इधर पूर्व विधायक डॉ. कुमार देवरंजन सिंह महाराजगंज सीट के भाजपा के कोटे में जाने को लेकर आश्वस्त हैं। अपना टिकट कन्फर्म बताते हुए डा देवरंजन लगातार जनसंपर्क में जुटे हुए हैं। हालांकि भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर किसी दूसरे राष्ट्रीय पार्टी से चुनाव लड़ने की भी चर्चाएं है। वहीं एनडीए के मुकाबले महागठबंधन के प्रत्याशियों में सबसे ज्यादा दावेदार दिख रहे हैं। कोई इस सीट को राजद के खाते में तो कोई कांग्रेस के खाते में बता रहा है।

टिकट का दावा करते हुए प्रत्याशी जनसंपर्क में जुटे

राजद से टिकट का दावा करते हुए आधा दर्जन से अधिक भावी प्रत्याशी जनसंपर्क में लगे हुए हैं। वहीं कई प्रत्याशी बड़े-बड़े विज्ञापन और पोस्टरों के माध्यम से अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं। कौड़िया के स्वच्छ छवि के राजीव रंजन सिंह उर्फ रुन्नु बाबू ने खुद को प्रत्शाशी घोषित करते हुए प्रचार भी शुरू कर दिया है। इनका कहना है कि पार्टी सुप्रीमों की हरी झंडी मिलने के बाद ही गांवों में राजद प्रत्याशी के रुप में भ्रमण कर आर्शीवाद मांग रहे हैं। इस बारे में रुन्नु बाबू का कहना है कि उनका राजद से टिकट मिलना तय है। पार्टी से सिग्नल मिल गया है, केवल सिंबल मिलना रह गया है। वहीं महुआरी के सुभाष सिंह का कहना है कि पार्टी ने उन्हे प्रचार में जुट जाने को कहा है।

फलस्वरुप वे क्षेत्र में वोट मांगने हर रोज निकल जा रहे हैं। इसी तरह पूर्व पूर्व प्रमुख राजकुमारी देवी कहतीं हैं कि महिला होने के नाते उनका टिकट शत-प्रतिशत मिलना तय है। राजद नेता सुशील कुमार डब्लू, अशोक राय, सुभाष सिंह, बिपिन बिहारी उर्फ नन्हू राय भी चुनाव मैदान में ताल ठोंकते हुए टिकट कन्फर्म बता रहे हैं। राजद के टिकट के चुनाव लड़ने की इच्छा रखने वाले सभी प्रत्याशी लगातार बीच-बीच में पटना की दौड़ लगा रहे हैं। ताकि वे महाराजगंज का महाराज बनने के लिए पार्टी का टिकट हासिल कर सके। बहराल राजद से कौन उम्मीदवार होगा इसे लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है।