कुरियर कंपनी के दफ्तर से 14 लाख रुपए की लूट, लुटेरो ने मोबाइल और लैपटॉप भी नहीं छोड़ा

0

मुजफ्फरपुर: बिहार के मुजफ्फरपुर में अपराधियों ने लूट (Cash Loot) की बड़ी घटना को अंजाम दिया है. अपराधियों ने एक कुरियर एजेंसी (Courier Agency) के दफ्तर से 14 लाख रुपए नगद के साथ बड़ी संख्या में कीमती मोबाइल और लैपटॉप (Laptop) लूट लिया. घटना एयरपोर्ट थाना क्षेत्र के न्यू जीरो माइल इलाके में हुई है. यह घटना अहियापुर थाना से महज 100 मीटर की दूरी पर हुई है. लूट की इस वारदात में कुरियर कंपनी के दफ्तर की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है. दरअसल, सरकार के कोविड-19 नियमों के मुताबिक शाम 7 बजे सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठान और दुकानों को बंद कर लेना है. कुरियर कंपनी के कर्मी रात 10 बजे तक अपने कार्यालय में मौजूद थे, जबकि आसपास के सभी दुकानें बंद थीं. इसी वीरानगी का फायदा उठाकर लुटेरों ने इस वारदात को अंजाम दिया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

कुरियर एजेंसी के कैशियर तन्मय गोयल ने बताया कि मंगलवार की रात करीब 9:50 बजे मैनेजर पुष्पेंदु और कई डिलीवरी ब्वॉय ऑफिस में दिन भर का हिसाब किताब कर रहे थे. दो दिनों में आर्टिकल डिलीवरी का करीब 14 लाख रुपया ऑफिस में था. उसी का मिलान किया जा रहा था. इसी बीच पिस्टल से लैस दो लुटेरे पहले ऑफिस में आए, उसके पीछे दो और लुटेरे भी आए सबके हाथ में गन थे. उन्होंने सबसे पहले मैनेजर पुष्पेंदु को कब्जे में लिया और गाली-गलौज मारपीट करने लगे. उसके बाद दो लुटेरे कैशियर तन्मय के केबिन में घुस गए और तन्मय को पीटकर उन लोगों ने सेफ़ की चाबी छीन ली और वहां मौजूद पूरा कैश लूट लिया.

अपराधियों की पिटाई से एक कर्मी मामूली रूप से जख्मी हो गया. जाते-जाते लुटेरों ने डिलीवरी के लिए आए कीमती मोबाइल और लैपटॉप भी लूट लिए. तन्मय ने बताया कि घटना के वक्त ऑफिस में एक सिक्‍योरिटी गार्ड था, उसे भी अपराधियों ने गन प्‍वाइंट पर ले लिया था. तन्मय के मुताबिक, पूरी घटना ऑफिस में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है. इसे अहियापुर पुलिस ने अपनी कस्टडी में ले लिया है. इस मामले में डीएसपी रामनरेश पासवान ने 14 लाख की लूट की पुष्टि भी की है. अहियापुर थाना के प्रभारी थानेदार बनेश्वर किस्कू ने कहा है कि पूरी वारदात का सीसीटीवी फुटेज खंगाला जा रहा है. उसी के आधार पर आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

थानेदार बनेश्वर किस्कू ने यह भी कहा है कि जब सारी दुकानें 7 बजे बंद कर देने का निर्देश है तो किस हाल में कुरियर का दफ्तर रात के 10 बजे तक खुला था, इसकी जांच की जा रही है. अधिकारियों को कुरियर एजेंसी की इस लापरवाही की जानकारी दे दी गई है. पुलिस का मानना है कि कोरोना की वजह से पूरा इलाका सुनसान था और वीराना था, इसी का फायदा अपराधियों ने उठाया और इतनी बड़ी लूट की घटना को अंजाम दिया. पुलिस अपराधियों के भागने की दिशा में कार्रवाई कर रही है.