बिहार में जहरीली शराब से 40 की मौत, गोपालगंज में 20, बेतिया में 16, समस्तीपुर में बीएसफ और सेना के जवान समेत 4 की गई जान

0

पटना: बिहार में जहरीली शराब से अब तक 40 लोगों की मौत हो चुकी है। गोपालगंज में 20 और बेतिया में 16 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। समस्तीपुर जिले में भी बीएसएफ और सेना के जवान समेत 4 लोगों की मौत हो गई है। समस्तीपुर में हुई चार मौतों को लेकर एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने कहा कि प्रथम द्रष्टया मामला जहरीली शराब का लग रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

पुलिस मुख्यालय की ओर से जारी बयान के अनुसार बेतिया और गोपालगंज दोनों ही मामलों में एफआईआर दर्ज की कर लिया गया है। डीएम, एसपी और उत्पाद विभाग के अधिकारियों की टीम बनाकर घटनास्थल की जांच की गई है। छापेमारी में कई अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी हुई है। इस मामले में दोषी संबंधित थानेदार और चौकीदार को निलंबित कर दिया गया है।

समस्तीपुर के पटोरी थाना के रुपौली गांव में शुक्रवार की देर रात चार लोगों की मौत हुई है। आशंका जताई जा रही है कि इनकी मौत भी जहरीली शराब के कारण हुई है। देर रात से ही गांव में कोहराम मचा हुआ है। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद सभी शवों को अपने कब्जे में ले लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बेतिया व गोपालगंज में भी मिथाइल अल्कोहल युक्त शराब से हुईं मौतें

मुजफ्फरपुर के बाद बेतिया व गोपालगंज में जहरीली शराब से करीब दो दर्जन लोगों की मौत हो चुकी है। कई बीमार अस्पतालों में भर्ती हैं। उनकी भी स्थिति नाजुक है। मुजफ्फरपुर के गन्नीपुर स्थित क्षेत्रीय विधि विज्ञान प्रयोगशाला (आरएफएसएल) के वैज्ञानिक ने बेतिया व गोपालगंज पहुंचकर जांच की। जहां से लोगों ने शराब पी थी, वहां से सैंपल जमा कर पुलिस को सौंपा है। अब पुलिस कोर्ट की अनुमति से मुजफ्फरपुर स्थित आरएफएसएल जांच के लिए भेजेगी। प्रारंभिक छानबीन में बताया गया है कि मिथाइल अल्कोहल युक्त शराब पीने से जान गई है।

बीते गुरुवार को बेतिया के नौतन में जहरीली शराब से 16 लोगों ने दम तोड़ दिया था। वहीं, एक दर्जन से अधिक लोग मोतिहारी और गोपालगंज के विभिन्न निजी अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं। पुलिस उनकी टोह लेने में जुटी है। एक सप्ताह पूर्व मुजफ्फरपुर के सरैया और सकरा थाना क्षेत्र में भी नौ लोगों की जहरीली शराब से मौत हो गई थी। सकरा में तीन युवकों की आंखों की रोशनी भी चली गई। इससे पहले फरवरी 2021 में कटरा और मनियारी थाना क्षेत्र में पांच-पांच लोगों की मौत जहरीली शराब से हुई थी। आरएफएसएल की जांच में भी मिथाइल अल्कोहल युक्त शराब पीने से मौत होने की पुष्टि हुई थी।