सिवान में दो दिनों में मिले कोरोना के 45 नए मरीज, आंकड़ा 3579

0

परवेज़ अख्तर/सिवान :- जिले में कोरोना मरीजों की संख्या 3500 का आंकड़ा पार कर चुकी है। गुरुवार व शुक्रवार को जिले में कोरोना के 45 नए मरीज मिले, इसके साथ ही कोरोना के मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 3579 हो गई है। बता दें कि जिला का पहला मामला 27 मार्च को नौतन प्रखंड के अंगौता गांव में मिला था। संक्रमण की तेज रफ्तार को देखते हुए राज्य और जिला प्रशासन द्वारा लॉकडाउन लगाया गया था। लेकिन बावजूद इसके जिलेवासी सामान्य दिनचर्या बीता रहे थे। वहीं, अनलॉक लगते ही पूर्व की भांति बाजारों में दुकानें खुलने लगी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

मुख्य बाजार में सुबह से लेकर शाम तक लोगों की भीड़ ऐसे देखने को मिलती है, जैसे सब कुछ ठीक-ठाक हो। वहीं अबतक जिले में कोरोना संक्रमण का शिकार होकर 18 लोगों की मौत हो चुकी है। अबतक कोरोना को मात देकर जिदगी की जंग जीतने वाले लोगों की संख्या 3300 हो चुकी है। इस समय जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 261 है। सिविल सर्जन डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा ने बताया कि जिले में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रहा है, लेकिन इसकी रफ्तार काफी धीमी पड़ चुकी है। आम लोगों को भी सहयोगात्मक होते हुए जांच करानी होगी, तभी जाकर हमलोग कोरोना को हरा पाएंगे। बताया कि कोरोना मरीजों के बेहतर इलाज के लिए टेलीमेडिसिन द्वारा उचित परामर्श है। जिला में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सैंपल जांच की रफ्तार बढ़ाई गई है। प्रतिदिन जिले में विभिन्न पंचायतों में कोरोना जांच शिविर लगा कर कोरोना जांच किया जा रहा हैं। कोरोना पॉजिटिव होने वाले मरीजों को अपने सुविधानुसार होम आइसोलेशन, सरकारी आइसोलेशन सेंटर पर रखकर इलाज किया जा रहा है।

5000 प्रतिदिन सैंपलों की होगी जांच

सीएस डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा ने बताया कि अबतक दो हजार से 2500 सैंपलों की जांच की जाती थी, लेकिन जिलाधिकारी के निर्देश के आलोक में प्रतिदिन पांच हजार सैंपलों की जांच की जानी है। इसके लिए पूर्व में सदर अस्पताल समेत 21 जगहों पर शिविर लगाकर कोरोना की जांच की जा रही थी, लेकिन अधिक से अधिक लोगों की जांच के लिए शहर के तरवारा मोड़, सब्जी मंडी, दरबार रोड, बबुनिया मोड़ व गोपालगंज मोड़ पर प्रतिदिन कैंप लगाया जाएगा। ताकि अधिक से अधिक लोगों की जांच हो सके।