महिला हेल्पलाइन की मदद से एक हुआ टूटता परिवार

0
womain helpline

परवेज अख्तर/सिवान: महिला हेल्पलाइन की काउंसलरों की काउंसिलिंग के बाद एक टूटता हुआ परिवार फिर से एक हो गया और परिवार में खोई खुशहाली वापस लौट गई है। मामले में परियोजना प्रबंधक सह संरक्षण पदाधिकारी श्वेता कुमारी ने बताया कि दारौंदा थाना के पिनर्थु खुर्द गांव की एक महिला ने अपने ससुराल वाले के विरुद्ध मामला महिला हेल्पलाइन में दर्ज कराई। आवेदिका द्वारा बताया गया कि उनकी शादी दिसंबर 2015 में मैरवा थाना के आटवां गांव में हुई। शादी के एक साल तक ससुराल में ठीक से रही और पति विदेश चले गए थे। इस बीच सास द्वारा बार बार बच्चे ना होने के लिए ताना दिया जाता था एवं बेटे की दूसरी शादी करने की बात की जाती थी। एक दिन आवेदिका को मारपीट कर घर से निकाल दिया गया। इसके बाद मामले में दंपती आॅफिस बुलाकर सुलह समझौता कर आवेदिका को उसके ससुराल भेज दिया गया और बताया गया कि बच्चा ना होने पर दूसरी शादी करने के बजाय कानूनी रूप से बच्चे को गोद लिया जा सकता है। मौके पर परामर्शी पुष्पांजलि और रागिनी मौजूद थीं।

Loading...