मैरवा में जच्चा-बच्चा की मौत के बाद परिजनों ने किया जमकर हंगामा

0

परिजनों ने डॉक्टर पर लगाया लापरवाही का आरोप

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

परवेज अख्तर/सिवान : नगर के प्राण गढ़ी स्थित एक निजी क्लीनिक में सोमवार की अहले सुबह प्रसव के दौरान एक 30 वर्षीय महिला तथा उसके बच्चे की मौत हो गई. मौत के बाद अगले दिन परिजनों ने किलिनीक पहुंच कर जमकर हंगामा किया. हंगामा के दौरान परिजनों में डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाया. मृतका नगर के  मिसकरही मुहल्ला के गोलू अंसारी की 30 वर्षीय बेटी सोनी खातून है. मृतका के परिजनों ने बताया कि रविवार की देर रात्रि प्रसव पीड़ा के बाद महिला को प्राण गढ़ी स्थित डाक्टर अरुण कुमार राय के क्लीनिक पर ले आए. जहां सोमवार की अहले सुबह साढ़े तीन बजें चिकित्सक द्वारा प्रसव के लिए ऑपरेशन किया गया. ऑपरेशन के दौरान ही महिला की मौत हो गई.

जबकि चिकित्सक द्वारा उसकी स्थिति ठीक बताते हुए अपने यहां से गोरखपुर रेफर कर दिया. जबकि परिजनों ने चिकित्सक की चालाकी पकड़ ली. उन्हें मौत का अहसास हो गया था. परिजनों द्वारा रेफर किए जाने के बाद पड़ोस के दूसरे क्लीनिक में जब चिकित्सक से जांच कराई गई तो प्रसूता को मृत बताया गया. संतोष नहीं होने पर मृतका के परिजन उसे रेफरल अस्पताल भी ले गए. जहां चिकित्सकों द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया. रोते बिलखते परिजन उसे घर लाए तथा उसका अंतिम संस्कार किया. मंगलवार की सुबह मृतका के परिजनों तथा सुसराल के लोगों ने क्लीनिक पर पहुंच कर चिकित्सक की लापरवाही को मौत के लिए जिम्मेदार बताने लगे. परिजनों का कहना था कि जब चिकित्सक के पास सर्जरी की डिग्री नहीं थी, तो उसने उसका आपरेशन क्यों किया. मरने के बाद भी उनकी पुत्री को जीवित क्यों बताता रहा था.

प्रसव कराने मृतिका सोनी खातून अस्पताल के ऑपरेशन रूम में गयी. जिसका सारा सबूत अस्पताल में लगें सीसीटीवी कैमरे में कैद है. परिजन सीसीटीवी फुटेज और डॉक्टर की डिग्री की मांग कर रहे थे. परिजनों ने कहा कि जब मरीज डॉक्टर के मान का नहीं था तो उसने भर्ती क्यों लिया. क्यों नहीं उसी समय रेफर कर दिया. मृतिका के दो छोटे छोटे बच्चे हैं. घटना के बाद मृतिका के गांव तथा ससुराल में मातम पसरा हुआ है.