शराब के नशे में धुत दरौली थाने के जमदार और बड़ा बाबू ने की होमगार्डो के साथ मारपीट और गाली-गलौज

1

परवेज अख्‍तर, सिवान:- सूबे के मुखिया नितीश कुमार के शराबबंदी को उन्ही का पुलिस प्रशासन ठेंगा दिखाता नज़र आ रहा है। बिहार पुलिस जो शराबबंदी को सफल बनाने के लिए शराब का सेवन करने और शराब कारोबारियों को हवालात की हवा खिलवा रही है वही सिवान की पुलिस खुद शराब का सेवन कर अपने ही पुलिस बलों से गाली-गलौज और मार-पीट करती हुई नज़र आ रही है। कुछ ऐसा ही मामला सिवान के दरौली थाने में प्रकाश में आया है। जहाँ पर ड्यूटी पर तैनात होमगार्ड के जवानों ने उसी थाने में तैनात जमदार प्रमोद कुमार तिवारी और छोटा बाबू रमेश कुमार सिंह पर शराब पीकर उनलोगों के साथ मार-पीट और भद्दी-भद्दी गालियां देने का आरोप लगाया है। इस बाबत होमगार्ड के जवानों ने दरौली थाना प्रभारी को आवेदन देकर इन दोनों पर कार्यवायी की मांग की है. आवेदन में जवानों ने आरोप लगाया है कि 08 मार्च को संध्या गश्ती से वापस लौटने पर थाने में मौजूद जमदार प्रमोद कुमार तिवारी और छोटा बाबू रमेश कुमार सिंह शराब के नशे में धुत थे और आते ही उनलोगों के साथ गाली-गलौज करने लगे। जब इसकी शिकायत फ़ोन पर पुलिस निरीक्षक मैरवा से की गयी तो वे 12 बजे रात में थाने पहुंचे और उनका बिना मेडिकल कराये ही वापस लौट गए।साथ ही जवानों का कहना है कि जमदार और बड़ा बाबू रोज शाम को थाने में शराब का सेवन करते है। साथ ही होमगार्ड जवानों ने जिलाधिकारी महेंद्र कुमार को भी आवेदन दे आरोपित पुलिस पदाधिकारियों पर कार्यवायी की मांग की है। ऐसे में अब देखा जाय तो जो पुलिस शराब को लेकर इतनी सख्त दिख रही है और शराब कारोबारियों और पियक्कड़ों पर कार्यवाही करती दिख रही है वही खुद शराब के नशे में धुत होकर अपने ही जवानों के साथ दुर्व्यवहार कर रही है. इस प्रकार की घटनाएं नितीश कुमार के शराबबंदी पर प्रश्रचिन्ह खड़ा कर रही है।

1 COMMENT

Comments are closed.