पुलिस की पिटाई से आक्रोशित ग्रामीण उतरे सड़क पर, आगजनी कर किया जाम

0
  • सीवान-हथुआ मुख्य मार्ग को किया घंटों जाम
  • पुलिस ने पहुंच कर आक्रोशितों को कराया शांत

परवेज अख्तर/सीवान : जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सरावे पंचायत स्थित पटेल मोड़ को मंगलवार की सुबह लोगों ने जाम कर आगजनी शुरू कर दिया और जमकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की. पटेल मोड़ को जब करते ही लोग सैकड़ो से अधिक संख्या में घटनास्थल पर पहुंच घटना की जायजा लेने लगे. घटना के संबंध में स्थानीय लोगों ने बताया कि सोमवार की संध्या गांव के ही समीर आजम के यहां छठी समारोह में शामिल होने के लिए युवक गए हुए थे पार्टी करने के लिए तकरीबन 9 बजे समीर आजम सहित छः से सात की संख्या में युवक कोल्डड्रिंक लेने के लिए पटेल मोड़ पहुंचे जहां दुकान बंद होने के कारण दुकानदार को फोन के माध्यम से बुलाने के लिए फोन से बात कर रहे थे. तब तक पुलिस की दो वाहन एक जीप व एक बोलेरो सिवान की तरफ से आई और बिना कुछ पूछे ही पुलिस दोनों वाहन से उतरे और पीटना शुरू कर दीया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

वहीं उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि पुलिस जैसे ही गाड़ी अपनी रॉकी और मारना शुरू कर दी यदि पूछताछ की होती तो हम लोग बताएं होते कि हम लोग कहां आए हैं. लेकिन पुलिस द्वारा कुछ भी पूछा नही गया और मारपीट कर पुलिस चलती बनी. स्थानीय लोगों का यह भी आरोप है कि लॉक डाउन के का समय था तो लोग घरों में बंद थे और सरकार द्वारा आदेश भी जारी किया गया था कि घर से बाहर नहीं निकले. लेकिन अब सारा सामान्य चल रहा है यदि ऐसी ही पुलिस प्रशासन करती रहेगी तो आम जनता क्या करेगी? यदि पुलिस के खिलाफ आवाज नहीं उठाई गई तो पुलिस प्रतिदिन आम लोगों को पिटती रहेगी और लोग पुलिस के शिकार होते रहेंगे.इधर आगजनी के कारण सीवान-हथुआ मुख्य मार्ग पर सैकड़ों गाड़ियों का कतार दोनों तरफ लग गया था तकरीबन दो घंटे तक मार्ग बाधित रहा और सूचना पर पहुंची पुलिस स्थानीय जनप्रतिनिधियो ने मामले को समझा-बुझाकर शांत कराया.

सूचना पर वीडियो व जनप्रतिनिधी

सड़क जाम कर प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि जब तक पुलिस और जनप्रतिनिधि नहीं आते तब तक हम लोग सड़क को खाली नहीं करेंगे. स्थानीय लोगों ने घटनास्थल पर जीप अध्यक्ष संगीता यादव और सदर वीडियो रमेन्द्र कुमार के साथ-साथ पुलिस को भी बुलाया. जहां पुलिस और स्थानीय लोगों में समझौता हुई जिसके बाद आक्रोशित लोगों ने आगजनी बंद कर सड़क को खाली किया और आवागमन शुरू की गई.

बोले पदाधिकारी

इस मामले में प्रशिक्षु डीएसपी उमेश कुमार ने बताया कि रात में एक इंस्टीयूट द्वारा फर्जी वीजा के नाम पर विदेश भेजने का काम किया जा रहा था जिसमें नंदकिशोर यादव को गिरफ्तारी हुई थी उसी मामले में और एक अन्य मामला शराब को लेकर छापेमारी के लिए हम लोग जा रहे थे तब तक कुछ युवकों को अंधेरे में पाया गया जहां पूछताछ के बाद उनको को खदेड़ दिया गया.

उमेश कुमार प्रशिक्षु डीएसपी( मुफस्सिल ) सीवान