मुजफ्फरपुर में जहरीली शराब से एक और व्यक्ति की मौत, मरने वालों की संख्या छह हुई, पप्पू यादव भी पहुंचे कांटी

0

मुजफ्फरपुर: गोपालपुर और बेतिया के बाद मुजफ्फरपुर में भी जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढ़ रही है। बुधवार को एक और व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। इससे मरने वालों की संख्या छह हो गई है। इस व्यक्ति का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा था। पप्पू यादव भी कांटी पहुंचे और जहरीली शराब पीने से मरने वाले को परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि सरकार के सांसद व विधायक शराब के कारोबार में संलिप्त हैं। सरकार शराब के कारोबार में संलिप्त रहने वाले ग्राम पंचायत के मुखिया से लेकर सांसद तक की सदस्यता रद्द करने का कानून बनाए।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

मुजफ्फरपुर में कांटी प्रखंड में शराब से मौतों का सिलसिला तीन दिन पहले शुरू हुआ। मंगलवार तक पांच लोगों ने दम तोड़ दिया था। अभी करीब आधा दर्जन से अधिक लोग बीमार हैं। एक व्यक्ति की आंख की रोशनी चली गई है। सभी पीड़ित मणिकपुर नरोत्तम पंचायत के श्रीसियां व मानिकपुर गांव के हैं। बुधवार को कृष्णनंदन ओझा की मौत हो गई। कपरपुरा निवासी 35 वर्षीय कृष्णनंदन बतहू ओझा का बेटा था।

परिजनों का आरोप है कि सबने पंचायत चुनाव के प्रत्याशी द्वारा बंटवाई गई शराब पी थी। यहां 15 नवंबर को मतदान होना है। पुलिस ने एक मुखिया प्रत्याशी समेत दो को गिरफ्तार किया है। परिजनों ने दो मृतकों का आनन-फानन में दाह संस्कार कर दिया। पुलिस ने तीन शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेजा है।

एसएसपी जयंतकांत के अनुसार प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि मौतें शराब पीने से हुई हैं। शराब जहरीली थी या नहीं, यह रिपोर्ट आने पर पता चलेगा। मामले में कांटी थानेदार कुंदन कुमार और दो चौकीदारों को निलंबित किया गया है। तिरहुत रेंज के आईजी गणेश कुमार और एसएसपी ने श्रीसियां गांव जाकर छानबीन की।

सोमवार से शुरू हुआ मौतों का सिलसिला

ग्रामीणों के अनुसार, एक मुखिया प्रत्याशी ने रविवार को शराब बांटी थी। शराब पीने के बाद दोपहर से ही श्रीसियां और बरियारपुर के कई लोगों की तबीयत बिगड़ने लगी। सोमवार की दोपहर अशोक राय (50) की मौत हो गयी। देर रात सुमित कुमार उर्फ गोपी (28) ने भी दम तोड़ दिया। परिजनों ने दिलीप राय (50) और सिकिल राय (65) को सोमवार देर रात जूरन छपरा स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया जहां दोनों की मंगलवार की दोपहर को मौत हो गयी।

एसकेएमसीएच में भर्ती मानिकपुर गांव के मो. सज्जाद (35) ने शाम को दम तोड़ दिया। पुलिस ने दिलीप, सिकिल और सज्जाद का शव कब्जे में ले लिया। इसके अलावा, श्रीसियां के श्याम किशोर की आंखों की रोशनी चली गई है। श्रीसियां केही युवक मनोज राम की रविवार को मौत हो गई थी। पुलिस मनोज की शराब से मौत की पुष्टि नहीं कर रही है। हालांकि, गांव में चर्चा है कि मनोज की भी मौत की वजह शराब ही है। शराब पीने के बाद बीमार पड़े आधा दर्जन लोग शहर और ग्रामीण इलाकों के विभिन्न अस्पतालों में इलाज करा रहे हैं। पुलिस उनका पता लगाने में जुटी है।

चुनाव में शराब बांटने की मिल रही थी शिकायत

अस्पताल में मौजूद एक मृतक के परिजन ने बताया कि प्रत्याशी शराब बांट रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि पुलिस व प्रशासन से लगातार शिकायत की जा रही थी कि पंचायत चुनाव में भारी मात्रा में शराब बांटी जा रही है। बीते दिनों पुलिस और उत्पाद विभाग ने कई स्थानों से शराब जब्त भी की। श्रीसियां और बरियारपुर में भी आधा दर्जन से अधिक ताड़ी दुकानों को नष्ट किया गया था।

पंचायत चुनाव में जमकर बांटी जा रही शराब व ताड़ी

श्रीसियां व बरियारपुर में छठ पर्व के उल्लास के बीच हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना से सनसनी मच गई है। लोगों का कहना था कि पंचायत चुनाव में प्रत्याशी जमकर दारू ताड़ी पर खर्च कर रहे हैं। श्रीसियां गुमटी समेत गांव-टोले में देसी शराब का धंधा खूब फल फूल रहा है। घटना देसी या अंग्रेजी शराब से हुई है इसका स्पष्ट रूप से पता नहीं चल सका है। हालांकि जिस तरह से लोग बीमार हुए हैं इससे आशंका जताई जा रही है कि संभवतः शराब बांटी गई होगी। ग्रामीणों का कहना है कि उत्पाद विभाग व पुलिस इसपर लगाम लगाने में विफल है। प्रशासन इस हादसे से सबक लेते हुए तमाम ऐसे अड्डे को ध्वस्त करे व धंधेबाजों को गिरफ्तार करे।

उत्पाद विभाग व पुलिस ने चलाया अभियान

शराबकांड के बाद उत्पाद विभाग व पुलिस ने संयुक्त रूप से श्रीसियां, बरियारपुर व आसपास के इलाके में सघन छापेमारी अभियान चलाया। मृतकों के घर के आसपास के घरों में पुलिस ने तलाशी ली। माणिकपुर, श्रीसियांव बरियारपुर में पुलिस ने ताड़ी दुकानों पर धावा बोलकर तोड़फोड़ की। हालांकि घटना के बाद देसी शराब के धंधेबाज फरार हो गए हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधिकारी घटना की जांच में जुट गए हैं। आईजी, एसएसपी के साथ डीएसपी पश्चिमी अभिषेक आनंद ने गांव में जाकर घटना की तहकीकात की। पुलिस जहरीली शराब समेत सभी बिंदुओं पर जांच में जुट गई है। गांव में पुलिस लगातार गश्ती भी कर रही है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here