चकरी मठिया गांव में असामाजिक तत्वों ने की फायरिंग मची अफरा-तफरी, प्राथमिकी दर्ज

0
  • गांव में विवाद थमने का नाम नही, स्थानीय पुलिस निष्क्रिय
  • एकमा स्टेशन से साथी को छोड़कर लौट रहे युवक को भी बनाया निशाना
  • पारंपरिक हथियार से पीट पीटकर किया अधमरा साथ ही बेलेरो से धक्का मार मौत के घाट उतारने का किया प्रयास
  • घटना:–  मोहब्बत नाथ के मठिया गांव के समीप का

परवेज़ अख्तर/सिवान:
जिले के दारौंदा थाना क्षेत्र के पांडेपुर पंचायत अंतर्गत चकरी मठिया गांव में जल नल योजना के निर्माण कार्य को लेकर उत्पन्न हुए विवाद में असामाजिक तत्वों ने गांव में फायरिंग कर दहशत फैला दी। इस दौरान लोग तीतर-बितर हो गए।साथ ही सरकारी बोरिंग पर भी तोड़फोड़ करते हुए असामाजिक तत्वों ने ट्यूबल मोटर निकाल कर अपने साथ लेते चले गए।मौके पर मौजूद मंतोष भारती तथा बृजेश भारती को असामाजिक तत्वों ने बंदूक के बट से मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।उधर उक्त घटित घटना के बाद पांडेपुर पंचायत अंतर्गत चकरी  मठिया वार्ड संख्या 3 के वार्ड सदस्य सीमा देवी के पति पृथ्वीनाथ भारती के लिखित आवेदन दारौंदा थाना कांड संख्या 330/2020 दर्ज कराई गई। दर्ज प्राथमिकी में निरंजन सिंह, हंसराज सिंह, अमरेंद्र भारती, सुमन भारती, तथा प्रदीप भारती को आरोपित किया गया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal
sadar hospital
अस्पताल में मौजूद परिजन व ग्रामीण

दर्ज प्राथमिकी में पृथ्वीनाथ भारती ने यह आरोप लगाते हुए कहा कि अमरेंद्र भारती अपने लाइसेंसी हथियार लेकर मेरे गांव में आ धमके तथा भद्दी-भद्दी गाली गलौज करते हुए जल नल योजना के निर्माण स्थल को छतिग्रस्त करना शुरू कर दिए। इसका विरोध वहां पर मौजूद संतोष भारती तथा बृजेश भारती ने किया तो उसे मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया गया।बाद में दहशत फैलाने की नीयत से अमरेंद्र भारती, निरंजन सिंह, हंसराज सिंह,तथा उनके सहयोगियों ने लगभग 10 राउंड फायरिंग भी की।जिससे गांव में अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। यहां तक की विवाद दिन पे दिन गहराता चला गया। की इसी बीच तारकेश्वर भारती को अपना निशाना बनाते हुए पारंपरिक हथियारों से मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

घटना उस समय घटी की जब तारकेश्वर भारती मंगलवार को एकमा स्टेशन से अपने साथी को ट्रेन पर बैठा कर अपने घर बाइक से लौट रहे थे कि तभी सारण के रसूलपुर थाना क्षेत्र के मोहब्बत नाथ के मठिया गांव के समीप पूर्व से घात लगाकर बैठे निरंजन सिंह तथा उनके सहयोगियों ने अचानक उन्हें घेरकर पारंपरिक हथियारों से पीट-पीटकर अधमरा कर दिया।तथा अपने निजी बोलेरो से धक्का देकर मौत के घाट उतारने का प्रयास किया।परंतु वे बाल-बाल बच गए। तारकेश्वर भारती को हमलावरों ने मृत समझकर घटना को अंजाम देने के बाद सभी हमलावर घटनास्थल से फरार हो गए।

घायल तारकेश्वर भारती के साथ मौजूद गांव के सुभाष भारती, धर्मेंद्र भारती वहां किसी तरह वहां से जान बचाकर भागे और इस घटना की सूचना उनके परिजनों को दी।तो सूचना पाकर मौके पर परिजन पहुंचे। घटनास्थल पर पहुंचते ही परिजनों ने आनन-फानन में उसे इलाज हेतु सिवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया।जहां मंगलवार की देर संध्या तक घायल का इलाज जारी था।उधर उक्त घटित घटना को लेकर गांव के दो गुटों में तनाव व्याप्त है। अगर स्थानीय प्रशासन इस घटना की अनदेखी की तो इस गांव में बड़ी घटना का संकेत मिल रहा है।