गिरफ्तार फर्जी ADM ने उगले कई राज….संपत्ति के लालच में की थी विधवा से शादी….एप का इस्तेमाल कर पुल‍िस वालों को देता था धमकी….

0

पटना: मुजफ्फरपुर के सदर थाना क्षेत्र के बीबीगंज शांति विहार कालोनी से गिरफ्तार फर्जी एडीएम आकाश शातिर था। उसने अपने झांसे में लेकर एक विधवा के साथ ठगी की, बल्कि थाने के पुलिसकर्मी व अन्य विभागों के पदाधिकारियों से मनचाहा पोस्‍ट‍िंग के नाम पर लाखों रुपये की उगाही की। इन सभी ब‍िंदुओं पर पुलिस उससे पूछताछ कर आगे की कार्रवाई में जुटी है। मामले में पत्नी प्रभा के बयान पर गिरफ्तार फर्जी एडीएम पटना गर्दनीबाग के आकाश कुमार पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। इसमें घर में चोरी, लाखों की ठगी करने, जमीन हड़पने और प्रताडि़त करने और कटिहार व मुजफ्फरपुर का एडीएम का धौंस देकर उनके व स्वजनों के साथ भी मारपीट का आरोप लगाया गया है।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने बताया कि आरोपित पर दो मामले दर्ज करने की कवायद चल रही है। पूछताछ पर कई जगहों पर छापेमारी भी की गई है। साथ ही उसके पूर्व की गतिविधि का भी रिकार्ड खंगाला जा रहा है। इसके लिए पटना पुलिस से संपर्क स्थापित किया गया है। जांच में पता चला कि आकाश एक एप का इस्तेमाल कर पुलिसकर्मी व अन्य विभागों के पदाधिकारियों को काल कर लोगों को झांसा देता था। हालांकि लोग यह समझ नहीं पाते थे, मगर पुलिस की जांच के दौरान पूछताछ में उसने सब कुछ कबूल किया। इसके अलावा सफेदपोश व कई वीआइपी से जिला व मुख्यालय के अधिकारियों से काम कराने की बात पर लाखों रुपये ले चुका है।

मालूम हो कि प्रभा के भाई को जब उस पर संदेह हुआ तो उसने इसकी शिकायत पुलिस में की। इसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर उसे पकड़ा। इस दौरान उसने पुलिस पर नकली पिस्टल भी तान दी थी। कमरे की तलाशी में एडीएम लिखा नेम प्लेट, कई मेडल, नकली पिस्टल, कई तरह के दस्तावेज समेत अन्य सामान बरामद किए गए थे। साथ ही मुजफ्फरपुर एडीएम का नेम प्लेट लगा दिल्ली नंबर की कीर को भी पुलिस ने जब्त किया। पुलिस के मुताबिक, मामले में आकाश पर और एक प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। इसमें नकली पिस्टल, पुलिस सायरन, वायरलेस सेट, सरकारी विभाग का नकली आइकार्ड आदि बरामद होने का आरोप लगेगा।

पुलिस का कहना है कि पूछताछ के बाद मंगलवार को उसे कोर्ट में प्रस्तुत कर न्यायिक हिरासत में भेजने की कवायद की जाएगी। पूछताछ के दौरान जब पुलिसकर्मी ने पूछा कि कहां से पढ़ाई की है। तब उसने जबाव दिया कि देहरादून से पढ़े हैं। बीपीएससी की परीक्षा भी दी है। इंटरव्यू में बाहर हो गया था। इस पर जब बीपीएससी परीक्षा का बैच नंबर पूछा गया तो वह जबाव देने में फंस गया।

बता दें कि आकाश ने प्रभा को झांसे में लेकर न केवल शादी की। बल्कि उनसे पटना स्थित 40 लाख की जमीन, लाखों के गहने व अन्य सामान ले लिया था। जांच में पता चला कि होली के कुछ दिन पूर्व गाड़ी पार्किंग करने को लेकर एक पुलिस पदाधिकारी से आकाश का विवाद हुआ था। इस दौरान देख लेने तक की धमकी दी थी। कहा जा रहा कि उस वक्त भी आकाश ने पुलिस पदाधिकारी पर पिस्टल तान दी थी। इसके अलावा कई बार सदर व अन्य थाने पर काल कर खुद को एडीएम बता कई लोगों की पैरवी भी कर चुका है।