आशा कार्यकर्ताओं ने बीडीओ का किया घेराव

0
asha hadtal

परवेज अख्तर/सिवान : बिहार चिकित्सा एवं जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के आह्वान पर 12 सूत्री मांगों को ले आशा कार्यकर्ताओं का हड़ताल दिनोंदिन उग्र होता जा रहा है। आशा कार्यकर्ताओं द्वारा बुधवार को आउट डोर बंद कर सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी किया गया। गुठनी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण करने आए बीडीओ धीरज कुमार का आशा कार्यकर्ताओं ने घेराव कर सरकार विरोधी जमकर नारेबाजी की। इस दौरान स्वास्थ्य सेवा काफी प्रभावित हुई। आशा कार्यकर्ताओं ने उनका घेराव कर उनसे अपनी मांगों से संबंधित सवाल जवाब तलब करना शुरू कर दिया। बीडीओं ने अपने पक्ष में तमाम सफाइयां दी, लेकिन कार्यकर्ता संतुष्ट नहीं हो रही थीं। काफी मशक्कत के बाद मामला शांत हुआ। वहीं भगवानपुर में संघ की गीता देवी के नेतृत्व में करीब 50 आशा कार्यकर्ताओं ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर जमकर नारेबाजी की। इनका समर्थन वैक्सीन कोरियरन ने भी दिया। इस अवसर पर बुधवार को अपने बच्चों की टीका लगवाने आई महिलाओं को निराश होकर लौटना पड़ा। हड़ताल पर इस अवसर पर मालती कुंवर, सविता देवी, फुलबदन देवी, अनीता देवी, प्रेमा कुमारी, रामावती देवी, रीना देवी, उर्मिला देवी आदि उपस्थित थीं। हसनपुरा प्रखंड स्थित स्वास्थ्य केंद्र के परिसर में बुधवार को आशा दुर्गावती एवं कुरियर अनिल कुमार एवं गजेंद्र सिंह के नेतृत्व में दर्जनों आशा कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को ले हंगामा किया। इस दौरान आशा कार्यकर्ताओं ने ओपीडी एवं टीकाकरण कार्य बाधित कर दिया जिससे लोगों को काफी परेशानी हुई। इस दौरान मुख्यमंत्री नीतिश कुमार व स्वास्थ्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस अवसर पर पूनकली देवी, विद्यावती देवी, किरण देवी, आशा देवी, श्रीमती देवी, नूरशाबा माया देवी, चांदतारा देवी,बड़हरिया प्रखंड मुख्यालय स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कांग्रेस संगठन सचिव कॉग्रेस नेता रिजवान अहमद पहुंच कर आशा कार्यकर्ताओं को मनोबल को बढ़ाते हुए उनकी मांगों को जायज बताया तथा मांगें पूरी होने तक हड़ताल जारी रखने का समर्थन किया। इस मौके पर बड़हरिया आशा संघ की अध्यक्ष माला देवी ने आउट डोर बाधित कर स्वास्थ्य सेवा बाधित किया। प्रभारी चिकित्सक जेपी प्रसाद के समझाने के बाद आशा कर्मी शांत हुई। हड़ताल में आशा कार्यकर्ता माया देवी, प्रमिला पांडेय, सुमन, अनीता, सुनीता, मीलू देवी, ऊर्जा कुंवर, रिज़वान खातून, नुरेशा खातून,रेनू देवी, अंजू देवी, मीरा देवी, सहिला देवी, रिंकू देवी, प्रेम देवी, निर्मल देवी,बिंदा देवी समेत समस्त आशा कार्यकर्ता शामिल थीं। मैरवा में भी आशा कार्यकर्ताओं ने स्वास्थ्य केंद्र में तालाबंदी कर धरना-प्रदर्शन किया। धरने को संबोधित करते हुए बिहार राज्य आशा संघ गोप गुट की जिलाध्यक्ष मालती देवी ने कहा कि केंद्र और राज्य की सरकार नारी सशक्तीकरण की बात करती है। यह धोखा और छलावा साबित हो चुकी है, क्योंकि बिहार की लाखों आशा कर्मी महिला है और उनसे सामाजिक कार्य के नाम पर वाजिब मजदूरी भी नहीं दी जा रही है। एपवा नेत्री सोहिला गुप्ता और नीलम सिंह ने भी संबोधित करते हुए आंदोलन को और तेज करने की चेतावनी दी। प्रदर्शन में प्रभावती देवी, सीमा देवी, पुष्पा देवी, उमा देवी, कांति देवी, मीरा देवी, चंदा देवी, सुशीला देवी, शीला देवी, फुल कुमारी देवी, प्रियंका देवी, नीलम सिंह, मालती देवी, गुड्डी देवी, रीता देवी समेत कई आशा कार्यकर्ता शामिल थीं।तालाबंदी से मरीजों को हुई परेशानी

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal