पंचायत चुनाव के लिए गांवों में बनाया जा रहा ‘माहौल’, बार-बालाओं का डांस, FIR दर्ज

0

बक्सरः बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर गांवों में माहौल बनना शुरू हो गया है. उम्मीदवार की बात तो छोड़ ही दें यहां जिसने नामांकन तक नहीं कराया है वह भी पहले से ही माहौल बना रहा है. सभी अपने वोटरों को लुभाने में लगे हैं. बक्सर में एक वायरल वीडियो की जांच के बाद यह पता चला है कि चुनाव में माहौल बनाने के लिए एक भावी प्रत्याशी ने बार-बालाओं के डांस का आयोजन कराया था. वीडियो की पुष्टि होने के बाद इस मामले में बीते सोमवार को नावानगर थाने में एफआईआर दर्ज की गई है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ad-mukhiya

वायरल वीडियो के संबंध में बताया जाता है कि नावानगर थाना क्षेत्र के भरौली गांव में प्राथमिक विद्यालय परिसर में विश्वकर्मा पूजा के दिन बार-बालाओं का डांस हुआ था. कार्यक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो इसकी सत्यता की जांच नावानगर के सीओ अजीत कुमार ने की. इसके बाद पता चला कि पंचायत चुनाव में सरपंच पद के भावी प्रत्याशी विनोद यादव उर्फ करिया यादव ने विश्वकर्मा पूजा के दिन बिना अनुमति के बार-बालाओं का डांस करवाया था. इसकी पुष्टि होने के बाद नावानगर थाने में ही विनोद यादव उर्फ करिया यादव पर 20 सितंबर को सीओ अजीत कुमार ने एफआईआर दर्ज करवाई थी.

इस मामले पर फोन पर अंचलाधिकारी अजीत कुमार ने बताया कि आचार संहिता में कोई भी कार्यक्रम बिना अनुमति के नहीं करना है. इस कार्यक्रम में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है. कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां भी उड़ी हैं. सीओ ने कहा कि इस मामले में अश्लील नृत्य और कई अन्य धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है.

विनोद के तीन ठिकानों पर हो चुकी छापेमारी

नावानगर थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि सीओ अजीत कुमार ने कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं होने, आदर्श आचार संहिता उल्लंघन को लेकर 20 सितंबर को थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है. इसको संज्ञान में लेते हुए विनोद यादव उर्फ करिया यादव की गिरफ्तारी के लिए उसके संभावित ठिकानों पर तीन बार छापेमारी हो चुकी है. जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.