मौसम के बदलते मिजाज से रहे सावधान:- डॉक्टर अहमद अली

0

लगातार ठंड से हो रही दिक्कते, हवा के कारण तापमान में हो रहा गिरावट

परवेज़ अख्तर/सीवान:
घने कोहरे के साथ तेज शीतलहर को लेकर आमजनों को अपने घरों में दुबकने के लिए मजबूर कर रखा है. लगातार कुछ दिनों से ठंड में बढ़ोतरी से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है. इन दिनों हालत यह है कि कुछ दिनों से कभी – कभी सूर्य देव के दर्शन 10:00 बजे तों वही दोपहर के 12 बजे के बाद सूर्य देव के दर्शन लोगों को हो पा रहे हैं.लगातार बढ़ते ठंड और कोहरे को लेकर वाहनों की गति भी धीमी होती नजर आ रही है. आलम यह है कि घने कोहरे के कारण 50 से 100 मीटर की दूरी पर ही नजर सिमट जाती है.घने कोहरे और बढ़ती ठंड को लेकर सड़कों पर सुबह व संध्या जहां सन्नाटा छाया हुआ नजर आता है तो वही अति आवश्यक कार्य को लेकर ही लोग अपने घरों से निकल रहे हैं.सूर्य देव के विलम्ब से व कभी-कभी नही निकलने से तापमान में गिरावट हो रहा है. जिससे ठिठुरन भी बढ़ती जा रही है. क्षेत्र के लोग लगातार घने कोहरे और बढ़ती ठंड को लेकर विभाग द्वारा अलाव की व्यवस्था कराने की मांग की है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

जिससे थोड़ी बहुत ठंड से क्षेत्र के लोगों को राहत मिल सके. स्थिति ऐसी है कि वाहन चालकों को दिन में भी लाइट जला कर चलना पड़ रहा है.यही नहीं दुकानों में गर्म कपड़ों की बिक्री भी बढ़ गई है.गर्म कपड़ों की खरीदारी के लिए लोगों की भीड़ दुकानों पर देखी जा रही है .ठंड को देखते हुए घर की महिलाएं बच्चे व बुजुर्ग को लेकर परेशान दिख रहे हैं.वहीं दूसरी ओर ठंड के शुरू होते ही सर्दी ,खांसी ,बुखार का प्रकोप भी शुरू हो गया है.अचानक पारा के गिरने से लोग बीमार पड़ने लगे हैं .सदर अस्पताल सहित अन्य क्लिनिकों में मौसमी बीमारियों के मरीजों की संख्या में वृद्धि होने लगी है.

मौसम में आ रहे बदलाव को लेकर चिकित्सकों ने भी लोगों को ठंड से बचने की सलाह दी है.सदर अस्पताल में तैनात चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर अहमद अली ने कहा कि जब भी घर से बाहर निकलें गर्म कपड़े जरूर पहनें.खासकर बच्चों को हमेशा गर्म कपड़ों में लपेट कर रखें.गर्म पानी व भोजन का सेवन करें.शीत व तेज हवा में सिर को ढक कर रखें .तेज हवा व घने कोहरे में घूमने से बचे.वाहन चलाने के पूर्व पूरे शरीर व कान को अवश्य  ढक लें.ठंड का अधिक एहसास होने न पर शरीर को आग से सेकें.वहीं तुरंत चिकित्सकों से सलाह लें.