भगवानपुर हाट: अगर स्कूल जाना है तो नाव की सवारी करनी पड़ेगी, हाल डेहरी गांव के मध्य विद्यालय का

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के भगवानपुर हाट प्रखंड क्षेत्र के बलहा एराजी पंचायत के डेहरी गांव के बच्चों को जान जोखिम में डाल कर विद्यालय जाना पड़ रहा है.जब से विद्यालय खुला है तब से लेकर अब तक बच्चों को नाव की सवारी  कर विद्यालय जाना पड़ रहा है .नाव के सहारे विद्यालय पहुँच बच्चे शिक्षा लेने में लगे हुए है.जबकि दूसरा कोई सुविधा नहीं है. ग्रामीण धमेंद्र कुमार राम ने बताया कि वार्ड संख्या 12 से लेकर विद्यालय तक सड़क पर चार फीट से अधिक पानी लगा हुआ है.जल जमाव के कारण आधा किलोमीटर नाव से विद्यालय जाना पड़ता है.उन्होंने ने बताया कि बीते वर्ष 2020 में बाढ़ व कोरोना संक्रमण के वजह से बच्चे स्कूल नहीं जा पाए.  दिया.लेकिन इस वर्ष हुई लगात हुई बारिश से जल जमाव हो गया है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

वार्ड संख्या 12 के अनुसूचित जाति के लोगों के बच्चों को स्कूल जाना है तो नाव की सवारी करनी पड़ेगी.इतने अधिक पानी मे अगर नाव डूबी तो क्या होगा इसका अनुमान लगाया जा सकता है.इतनाही नही यहां स्थित आंगनबाड़ी केंद्र भी चारों तरफ से पानी से घिरा हुआ है .जिससेआंगनवाड़ी केंद्र बंद किया गया है.विषैले जन्तुओं ने यहां डेरा डाल रखा है.डेहरी गांव में वार्ड संख्या 12 के आंगनवाड़ी केंद्र संख्या 109 के चारों तरफ से पानी से घिर गया है.जिसके कारण केंद्र को बंद कर दिया गया है.केंद्र के सेविका पुष्पा कुमार ने बताया कि लगातर बारिस होने के कारण केंद्र के सभी रास्ते पर तीन से चार फीट तक पानी लगा गया है.जिससे केंद्र में विषैले जन्तुओं ने डेरा डाल दिया है.बच्चों के सेहत व जीवन को ध्यान में रखते हुए केंद्र को बंद कर दिया गया है.तथा इसके बदले गांव में केंद्र का संचालन किया जा रहा है.